• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

CORONA UPDATE: अगस्त के अंत तक आ सकती है तीसरी लहर ,ICMR एक्सपर्ट ने दिया सावधान रहने का सुझाव…

1 min read

CORONA UPDATE: अगस्त के अंत तक आ सकती है तीसरी लहर ,ICMR एक्सपर्ट ने दिया सावधान रहने का सुझाव…

 

NEWSTODAYJ_Corona update:देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर के आने को लेकर लोगों के मन में तमाम सवाल हैं। ऐसे में भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) में महामारी विज्ञान और संक्रामक रोगों के प्रमुख, डॉक्टर समीरन पांडा ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि अगस्त के अंत तक देश में कोविड-19 की तीसरी लहर आ सकती है, लेकिन यह दूसरी लहर से कम गंभीर होगी।

यह भी पढ़े…Corona update: कोरोना के डेल्टा वेरिएंट फैल रहा तेजी से,104 देशों में मिले मरीज

हालांकि इस दाैरान यह भी स्पष्ट कर दिया कि प्रत्येक राज्य के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि वह राज्य स्तरीय महामारी की जांच करे और निर्णय करे कि उनमें से कुछ ऐसी स्थिति में हो सकते हैं जहां पहली और दूसरी लहर की तीव्रता बहुत कम हो लेकिन अगर कोविड नियमों और प्रतिबंधों को मेनटेन नहीं रखा गया तो वे तीसरी लहर को बहुत कठिन अनुभव कर सकते हैं।

 

लोगों को काफी सावधान रहने की जरूरत

 

डॉक्टर समीरन पांडा ने इसके साथ ही यह भी कहा कि तीसरी लहर अगस्त के अंत तक आ सकती है लेकिन यह अपरिहार्य नहीं है। राज्यों को अपने स्वयं के कोविड डेटा को देखने और जांचने की आवश्यकता है कि वे वैश्विक महामारी के किस चरण में हैं। इसलिए हमें और सावधान रहने की जरूरत है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी चेतनावनी दी कि दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है और रोगसूचक मामलों की रिपोर्ट की संख्या में उतार-चढ़ाव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.