• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

corona update:इतने तेजी से कोरोना कैसे फैल रहा है जाने ये बातें:विशेषज्ञों ने क्या कहा,जाने कब तक आएगी सुधार…

1 min read

corona update:इतने तेजी से कोरोना कैसे फैल रहा है जाने ये बातें:विशेषज्ञों ने क्या कहा,जाने कब तक आएगी सुधार…

NEWSTODAYJ:देश में नोवेल कोरोना वायरस की दूसरी लहर तेजी से बढ़ रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में बीते 24 घंटों में 96,982 नए कोरोना मरीज मिले हैं।

इस तरह से अब कोरोना के कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 1.26 करोड़ हो गई है। सितंबर में कोविड के मामलों में आई कमी के बाद दोबारा से हो रही इस तरीके की बढ़ोतरी ने आम जनता के साथ-साथ सरकार को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है।

अब सवाल यह उठता है कि आखिर जब एक समय ऐसा लग रहा था कि देश ने कोविड की लड़ाई जीत ली है, तो आखिर दोबारा इतनी तेजी से मामलों के बढ़ने के क्या कारण हो सकते हैं?

क्यों बढ़ने लगे हैं मामले?

मध्यप्रदेश के इंदौर में कोविड कॉटैक्ट ट्रेसिंग प्रभारी डॉ अनिल डोंगरे ने एक बातचीत के दौरान बताया कि कोरोना के वायरस को बढ़ने के लिए अनुकूल वातावरण की जरूरत होती है। चूंकि अक्टूबर-नवंबर में तापमान में गिरावट आ जाती है जो वायरस के बढ़ने के लिए अनुकूल होता है। अब जैसे ही तापमान फिर से बढ़ने लगा है उसी के साथ वायरस के प्रसार में भी तेजी देखने को मिल रही है।

डॉ अनिल बताते हैं कि मामलों के दोबारा से बढ़ने का एक कारण यह भी है कि लोगों में कोविड के यूके जैसे दूसरे स्ट्रेनों की भी पुष्टि हो रही है। रोचक बात यह है कि जिन लोगों में यूके जैसे स्ट्रेन की पुष्टि हुई उनकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं थी। इसका मतलब होता है कि लोग अन्य तरीकों से नए स्ट्रेनों के शिकार हो रहे हैं। हमें 100 लोगों के सैंपल में 6 लोगों में यूके स्ट्रेन देखने को मिले हैं, यह सिर्फ एक शहर की बात है, ऐसे देश में कितने लोग संक्रमित हुए होंगे।

लोगों की लापरवाही भी एक कारण

कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री ने एक बैठक बुलाई थी। इसमें अधिकारियों ने जानकारी दी कि एक बार कोरोना के मामले कम होने के बाद लोगों ने लापरवाही करनी शुरू कर दी थी, जिसके कारण भी मामलों में तेजी देखने को मिल रही है। सही से मास्क न पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन न करना और लोगों का दोबारा से एक दूसरे से बिना एहतियात बरते मिलने के कारण भी मामले फिर से बढ़ रहे हैं।

कब तक स्थिति नियंत्रित होने की उम्मीद?
डॉ अनिल बताते हैं कि चूंकि यह मौसम वायरस के बढ़ने के लिए अनुकूल है, ऐसे में फिलहाल मामले और बढ़ते देखे जा सकते हैं। एक बार जब मई-जून में तापमान बढ़़ेगा, उस समय दोबारा से मामलों में गिरावट देखने की उम्मीद की जा रही है। फिलहाल तब तक लोगों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस लहर से सुरक्षित रह सकें।

क्या करना चाहिए?

विशेषज्ञों के मुताबिक सरकार द्वारा वायरस की रोकथाम के लिए बताए गए सभी नियमों का पालन करना बेहद जरूरी है। मास्क को सही तरीके से लगाएं, मास्क को साफ रखें। इसके अलावा मास्क को लगाते और उतारते समय हाथों की सफाई का ध्यान रखें। लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखें। बहुत ज्यादा जरूरी हो तभी घर से बाहर निकलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.