• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Business:मानसून में लगाएं ये आठ सब्जियां,एवम करें मोटी कमाई

1 min read

इस मौसम में देश में खरीफ फसलों की बुवाई की जाती है. इनमें मुख्य रूप से धान, तिलहन और दलहनी फसलें होती हैं. इसके अलावा इस मौसम में सब्जियों की खेती भी होती है।

इन 8 सब्जियों की खेती से मॉनसून सीजन में कर सकते हैं अच्छी कमाई, यहां जानिए पूरी डिटेल

NEWSTODAYJ_भारत में मॉनसून लोगों की चेहरे पर मुस्कान लाता है. खास कर किसानों की खुशहाली का दूसरा नाम ही मॉनसून है. अगर अच्छी मॉनसून होती है तो पैदावार भी अच्छी होती है. इस मौसम में देश में खरीफ फसलों की बुवाई की जाती है. इनमें मुख्य रूप से धान, तिलहन और दलहनी फसलें होती हैं. इसके अलावा इस मौसम में सब्जियों की खेती भी होती है. पर सभी सब्जियों की खेती इस मौसम में नहीं की जा सकती है. आइए जानते हैं मॉनसून के मौसम में वो कौन सी आठ सब्जियां हैं जिनकी खेती हम कर सकते हैं.

यह भी पढ़े……Business news:सोने व चांदी में लौटी तेजी

खीरा

खीरा मॉनसून में उगायी जाने वाली सब्जी है. जिसे धूप और पानी दोनों ही पसंद हैं. यह आसानी से उगायी जाने वाली सब्जी है. पानी और गर्मी दोनों ही मिलने पर खीरा काफी तेजी से बढ़ता है. 30 दिन में फसल बाजार में बेचने लायक हो जाती है. लतरदार होने के कारण यह छोटी जगह भी में आसानी से उगायी जा सकती है. इसका उपयोग सलाद और सैंडविच में किया जाता है. इसे अच्छी मात्रा में धूप की आवश्यकता होती है, और नम और अच्छी तरह से सूखा मिट्टी में अच्छी तरह से बढ़ता है. इसके ग्रोथ के लिए आदर्श तापमान 16-32 डिग्री सेल्सियस है.

टमाटर

टमाटर काफी तेजी से बढ़ता है. उत्तर भारत में जून-अगस्त के बीच इसे उगाने का सबसे सही समय माना जाता है. जबकि दक्षिण भारत में इसे उगाने के लिए जुलाई अगस्त का समय सबसे सही माना जाता है. टमाटर को धूप की आवश्यकता होती है लेकिन इसके ग्रोथ अच्छी जल निकासी वाली मिट्टी की भी आवश्यकता होती है. बढ़ने के लिए आदर्श तापमान 21°c-27°c के बीच है. चेरी टमाटर की नस्ल को आप घर पर भी उगा सकते हैं।

मूली

इसे उगाना आसान है और रोपण के बाद 3 सप्ताह में कटाई के लिए तैयार हो जाता है. बढ़ते मौसम में इसे कई बार लगाया जा सकता है. इसका उपयोग सूप और सलाद में किया जाता है और एक चटपटा स्वाद जोड़ता है. अगस्त से जनवरी के महीने में इसे बढ़ने के लिए बहुत कम समय लगता है. इसकी खेती करने के लिए जल निकासी की अच्छी व्यवस्था होनी चाहिए.

 

फलियां

फलिया लगाना और इस फसल की रखरखाव करना बहुत आसान हैं. वे बहुत उत्पादक और पौष्टिक होते हैं. इन्हें उगाने का आदर्श समय जुलाई-अगस्त के बीच है. इसे बढ़ने के लिए बहुत कम जगह की भी आवश्यकता होती है और धूप और छाया दोनों में सबसे अच्छा बढ़ता है.

 

हरी मिर्च

व्यंजनों को मसाला देने के लिए, मानसून हरी मिर्च उगाने का सबसे अच्छा मौसम है और भारतीय भोजन मसालों के बिना अधूरा है. यह गर्म और आर्द्र मौसम में सबसे अच्छा बढ़ता है. मिर्च उगाने के लिए सीमित छाया वाले धूप वाले स्थान की आवश्यकता होती है. इसे रोजाना 5-6 घंटे धूप की जरूरत होती है.

यह भी पढ़े……Business: डॉलर में आई कमजोरी के कारण सोने की दाम में बढ़ोतरी,चांदी के दाम में आया उछाल

बैंगन

बैंगन में कैल्शियम, आयरन और फाइबर से भरपूर होता है. यह विभिन्न प्रसिद्ध व्यंजनों का एक हिस्सा है और दुनिया के कई व्यंजनों में एक प्रमुख हिस्सा है. बैंगन को बड़ा होने के लिए उन्हे लगाने के लिए बड़े स्थान की आवश्यकता होती है. उन्हें पानी और सूरज के अलावा अतिरिक्त भोजन और पोषक तत्वों की आवश्यकता नहीं होती है.

 

भिंडी

यह कैलोरी में कम और विटामिन ए से भरपूर होता है. अपने सुंदर फूलों के कारण यह अपने बढ़ते मौसम के दौरान सुंदर दिखता है और एक पौष्टिक सब्जी है जिसे लोग खाना पसंद करते हैं. उन्हें बढ़ने के लिए उचित धूप की आवश्यकता होती है.

 

लौकी

भारत में लौकी कई आकार और कई प्रजातियो में पाया जाता है. मचान पर यह अच्छी तरह से बढ़ता है और जमीन को छूने से रोकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें