• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

N-95 मास्क नहीं करता कोरोना से बचाव, सरकार ने एडवाइजरी जारी कर राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों को लिखा पत्र

1 min read

N-95 मास्क नहीं करता कोरोना से बचाव, सरकार ने एडवाइजरी जारी कर राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों को लिखा पत्र

  • N-95 मास्क में लगा वॉल्व कोरोना वायरस को बाहर निकलने में मदद नहीं करता
  • कोरोना से बचने के लिए ट्रिपल लेयर मास्क का इस्तेमाल सबसे ज्यादा सुरक्षित

NEWSTODAYJअगर आप भी कोरोना से बचने के लिए N-95 मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं तो सावधान हो जाईये. केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर लोगों द्वारा वॉल्व वाले एन-95 मास्क के इस्तेमाल के खिलाफ चेतावनी जारी की है। इस एडवाइजरी में N-95 मास्क को कोरोना के लिए खतरनाक बताया गया है. केंद्र का कहना है कि यह वायरस को फैलने से नहीं रोकते और इनका इस्तेमाल वायरस की रोकथाम के लिए अपनाए गए उपायों के लिए हानिकारक है। सरकार के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक डॉ राजीव गर्ग ने राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर इसके प्रयोग पर रोक लगाने के लिए कहा है. सरकार की ओर से बताया गया है कि N-95 मास्क में लगा वॉल्व कोरोना वायरस को बाहर निकलने में मदद नहीं करता है. एन-95 मास्क कोरोना संक्रमण को रोकने में पूरी तरह से नाकामयाब है।

ये भी पढ़े-WEATHER FORECAST : तीन दिन होगी भारी बारिश, ये जिले होंगे प्रभावित , वज्रपात होने की संभावना…

स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक राजीव गर्ग ने राज्यों के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मामलों के प्रधान सचिवों को पत्र लिखकर कहा है कि सामने आया है कि प्राधिकृत स्वास्थ्य कर्मियों की जगह लोग एन-95 मास्क का अनुचित इस्तेमाल कर रहे हैं, खासकर उनका जिनमें वॉल्व लगा है. वॉल्व लगा एन-95 मास्क कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अपनाए गए कदमों के विपरीत है क्योंकि यह वायरस को मास्क के बाहर आने से नहीं रोकता.

सरकार ने एडवाइजरी जारी कर कोरोना से बचने के लिए ट्रिपल लेयर मास्क का इस्तेमाल सबसे ज्यादा सुरक्षित बताया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी वाल्व वाले मास्क से बेहतर ट्रिपल लेयर मास्क को बताया है और इस संबंध में दुनियाभर के देशों को दिशा निर्देश भी जारी किए हैं. यही वजह है कि अब चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मचारी एन-95 के साथ ट्रिपल लेयर मार्क्स भी प्रयोग कर रहे हैं.

ये भी पढ़े-CRIME : कपड़े की दुकान में चोरो ने धावा बोलकर हजारो रुपये की संपत्ति पर हाथ साफ कर फरार…

Leave a Reply

Your email address will not be published.