सुषमा दीदी के विचार और आदर्श हमारे बीच सदैव रहेंगेःरघुवर दास

रांची।

सुषमा दीदी के विचार और आदर्श हमारे बीच सदैव रहेंगेःरघुवर दास

रांची। सुषमा दीदी मेरे लिए बड़ी बहन थी। उन्होंने हमेशा मुझे छोटे भाई जैसा प्यार दिया। वे हर किसी से आत्मियता के साथ मिलती थी। जिस क्षेत्र में भी कार्य किया, अपनी अलग छाप छोड़ते हुए दूसरों के लिए आदर्श प्रस्तुत किया। आज वो हमारे बीच नहीं है, लेकिन उनके विचार और आदर्श हमारे बीच सदैव रहेंगे। सेवा भाव ही उनकी आदर्श था। जरूरतमंदों की सेवा कर हम उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि प्रदान कर सकेंगे। उक्त बातें मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहीं। वे पूर्व विदेश मंत्री स्व सुषमा स्वराज के लिए आयोजित श्रद्धांजलि सभा में बोल रहे थे।
उनके स्वभाव में ही सेवा भाव था
मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि सुषमा दीदी महिला सशक्तिकरण की जीती-जागती मिसाल थी। उन्होंने हमेशा महिलाओं को आगे बढ़ने की दिशा में कार्य किया। उनके स्वभाव में ही सेवा भाव था। यही कारण था कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की पहली सरकार में विदेश मंत्री रहते हुए विदेश मंत्रालय की पहुंच पहली बार आम लोगों तक हुई। ट्वीटर पर लोगों की समस्या की जानकारी मिलते ही, वे तत्काल इसके निराकरण का प्रयास करती थी। देश की सीमाओं से परे वे हर किसी की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहीं। राज्य सरकार के आग्रह पर कई बार कार्रवाई कर झारखंड के लोगों की मदद की है। लोगों की मदद कर उन्होंने लाखों परिजनों के जीवन में खुशियां फैलायीं। भारत के अलावा अमेरिका, पाकिस्तान, ब्रिटेन जैसे देशों के नागरिकों की भी उन्होंने मदद की। कई परिवारों को वीजा या पासपोर्ट दिलाने में सहायता कर उन्होंने अनोखी मिसाल पेश की। पहले पासपोर्ट बनने में जहां महीनों लगते थे, आज सप्ताह भर में पासपोर्ट बन जाता है।
झारखंड में विदेश मंत्रालय का कार्यालय शुरू करने का अनुरोध किया, दीदी तुरंत तैयार हो गयी
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक बात सुषमा दीदी से झारखंड में विदेश मंत्रालय का कार्यालय झारखंड में शुरू करने का अनुरोध किया। दीदी तुरंत तैयार हो गयी। राज्य सरकार ने एचइसी में इसके लिए जमीन चिह्नित की। इस कार्यालय के शिलान्यास के लिए सुषमा दीदी से आने का आग्रह किया था। उन्होंने इसके लिए मंजूरी देते हुए कहा था कि 2014 में सरकार बनने के बाद से झारखंड नहीं आयी हूं, जरूर शिलान्यास करने आऊंगी। इसी बीच उनकी तबीयत खराब होने से मामला लंबित हो गया। अब राज्य सरकार जल्द इसका शिलान्यास कराकर उनके सपने को पूरा करेगी। झारखंड में विदेश मंत्रालय का कार्यालय खुलने से यहां से दूसरे देश मे जाकर काम करनेवाले लोगों को काफी मदद मिलेगी।
राजनीति से ऊपर देश हित
मुख्यमंत्री ने कहा कि सुषमा दीदी ने राजनीति से ऊपर देश हित को रखा। यही कारण है कि उनके कार्यों की प्रशंसा देश-विदेश में होती रही। आज झारखंड का हर कार्यकर्ता और यहां की सवा तीन करोड़ जनता उन्हें श्रद्धांजलि प्रदान कर रही है। उनके दिखाये मार्ग पर चल कर और लोगों की सेवा कर हम उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि प्रदान करें। कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री श्री सीपी सिंह, सासंद श्री महेश पोद्दा, विधायक श्री नवीन जायसवाल, डॉ जीतू चरण राम, श्री देवीदास आप्टे, श्री दीपक प्रकाश समेत अन्य गण्यमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here