सावन की तीसरी सोमवारी और नाग पंचमी पर धनबाद के मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भारी भीड़। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……

धनबाद।

सावन की तीसरी सोमवारी और नाग पंचमी पर धनबाद के मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भारी भीड़। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……

धनबाद। सावन के महीने में साेमवार के दिन नागपंचमी पड़ना दुर्लभ संयाेग है। कभी-कभी ही ऐसा संयाेग बनता है। आज के दिन नाग की पूजा करना अत्यंत पुण्यकारी माना जाता है। ज्याेतिषाचार्यों के अनुसार अग्नि पुराण में 80 प्रकार की नाग जातियाें का वर्णन है। इसमें अनंत, वासुकी, पद्य, महापद्यम, तक्षक, कुसीर, ककाेटक और शंख जातियां प्रमुख हैं। भारत के साथ कई दूसरे देशाें में भी नाग पूजा विशिष्ट रूप से की जाती है। पूजा में श्रद्धालुओं ने अपने परिवार में सुख शांति और समृद्धि की कामना की साथी झारखंड के किसानों के लिए भी कामना की कि उनकी फसल की उपज अच्छी हो।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here