• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

सब्जेक्टिव की जगह ऑब्जेक्टिव प्रश्नों के साथ ऑफलाइन की जगह ऑनलाइन परीक्षा की तैयारी- अभिभावक पर दारोमदार कक्षा तीन से नौवीं तक होगी ऑनलाइन परीक्षा

1 min read

सब्जेक्टिव की जगह ऑब्जेक्टिव प्रश्नों के साथ ऑफलाइन की जगह ऑनलाइन परीक्षा की तैयारी- अभिभावक पर दारोमदार
कक्षा तीन से नौवीं तक होगी ऑनलाइन परीक्षा

NEWSTODAYJ- झारखण्ड में फिलहाल स्कूल खुलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैंl कोरोना संक्रमण का मामला इसका सबसे बड़ा कारण है कि ऑनलाइन क्लास के बाद अब ऑनलाइन परीक्षा की भी तैयार की जा रही हैl इसके लिए स्कूलों ने परीक्षा को बेहतर तरीके से संचालित करने के लिए वस्तुनिष्ठ प्रश्नपत्र तैयार कराना शुरू कर दिया है। आपको बतादें कि कक्षा तीन से नौवीं व ग्यारहवीं की परीक्षाओं में सब्जेक्टिव की जगह ऑब्जेक्टिव प्रश्नों का चयन किया जा रहा है। इससे एक तरफ जहां ऑनलाइन पेपर हल करना ज्यादा सहज होगा वहीं दूसरी तरफ मूल्यांकन करना भी आसान होगा। खबर की माने तो इसी माह में शहर के कई स्कूल इसकी शुरुआत करने जा रहे हैं।

मालूम हो कि रांची के दिल्ली पब्लिक स्कूल ने ऑनलाइन परीक्षा की शुरुआत आगामी 22 जून करने की घोषणा कर दी है। इसको लेकर सभी कक्षाओं के बच्चों को आवश्यक निर्देश दिए जा रहे हैं। परीक्षा में अब तक पूरे किये गये पाठ्यक्रम के अनुसार ही प्रश्न पूछने का निर्णय लिया गया है। वहीँ पहली बार आयोजित किये जा रहे एक साथ ऑनलाइन परीक्षा प्रणाली लागू करने में कहीं कोई तकनीकी व्यवधान पैदा न हो, इसके लिए आइटी एक्सपर्ट की भी मदद ली जा रही है।

बताते चले कि परीक्षाएं पूर्व निर्धारित परीक्षा पैटर्न के अनुसार ही हो रही हैं। बस प्रश्न पत्र के स्वरूप में बदलाव किया गया है। पहले के मुकाबले ऑन लाइन परीक्षा के समय में कटौती की जा सकती है। ऑनलाइन परीक्षा के दौरान स्कूलों ने वीक्षक का दायित्व अभिभावकों को सौंप दिया है। छात्र कदाचार मुक्त प्रणाली में परीक्षा दे सकें, इसके लिए परीक्षा शुरू होने से पहले ही अभिभावकों को आवश्यक निर्देश दिए जा रहे हैं। अभिभावकों को इस बात की जानकारी दी जा रही है कि कौन-कौन सी सावधानी बरतनी है। परीक्षा के दौरान बच्चों को क्या कुछ मुहैया कराना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें