विरोध प्रदर्शन:रामदेव बाबा की एलोपैथी पर टिप्पणियों से आक्रोश में डॉक्टर, आज करेंगे देशव्यापी आंदोलन ;मनाएंगे काला दिवस

विरोध प्रदर्शन:रामदेव बाबा की एलोपैथी पर टिप्पणियों से आक्रोश में डॉक्टर, आज करेंगे देशव्यापी आंदोलन ;मनाएंगे काला दिवस

 

NEWSTODAYJ_विरोध प्रदर्शन:एलोपैथी पर योग गुरू रामदेव (Ramdev) की टिप्पणियों से नाराज देशभर के रेजिटेंड डॉक्टर्स (Resident doctor) आज राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन कर काला दिवस मनाएंगे. एलोपैथी पर योग गुरू रामदेव की टिप्पणियों से नाराज रेजिटेंड डॉक्टरों के एसोसिएशनों एक जून यानी कि आज राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन करेंगे और इसे काले दिवस के रूप में मनाएंगे. संघ ने बयान जारी कर रामदेव से ”सार्वजनिक रूप से बिना शर्त माफी मांगने” को कहा.

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

यह भी पढ़ें…दिल्ली:कोरोना के एक्टिव मामलों में 38 फ़ीसदी की कमी ,तीन राज्यों में बड़े मामले

 

कोरोना वायरस संक्रमितों के इलाज में इस्तेमाल की जा रहीं कुछ दवाओं पर रामदेव द्वारा सवाल उठाने जाने पर विवाद खड़ा हो गया था.रामदेव ने कहा था, ”कोविड-19 के इलाज में एलोपैथी दवाओं के सेवन से लाखों लोगों की जान जा चुकी है.”

रामदेव ने मजबूर होकर अपना बयान वापस लिया

रामदेव की इन टिप्पणियों का कड़ा विरोध हुआ, जिसके बाद केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने उनसे ”बेहद दुर्भाग्यपूर्ण” बयान वापस लेने को कहा. रामदेव ने रविवार को मजबूर होकर अपना बयान वापस ले लिया. अगले दिन उन्होंने भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) को खुला पत्र लिखकर 25 सवाल पूछे. उन्होंने पूछा कि क्या एलोपैथी से बीमारियों से स्थायी रूप से छुटकारा मिल जाता है.

 

आयुर्वेद बनाम एलोपैथी की बहस के पीछे अलग-अलग समूहों के हित : विहिप

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे ने रविवार को कहा कि उन्हें आयुर्वेद बनाम एलोपैथी की मौजूदा बहस के पीछे अलग-अलग समूहों के वाणिज्यिक हित प्रतीत होते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि बेसिर-पैर की बातों के स्थान पर वैज्ञानिक रूप से रचनात्मक चर्चा होनी चाहिए कि कोविड-19 के मरीजों पर दोनों चिकित्सा पद्धतियों के किस तरह के प्रभाव सामने आए हैं? विहिप अध्यक्ष ने यह टिप्पणी ऐसे वक्त की है, जब एलोपैथी के खिलाफ योग गुरु रामदेव की कथित टिप्पणियों से आधुनिक चिकित्सा पद्धति के पेशेवरों में काफी गुस्सा दिखाई दे रहा है.

 

पश्चिम बंगाल में रामदेव के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज

भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) की बंगाल इकाई ने योग गुरु रामदेव के खिलाफ उनकी इस कथित टिप्पणी के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि डॉक्टरों सहित कई कोविड-19 रोगियों की मौत हो गई क्योंकि आधुनिक दवाएं बीमारी का इलाज नहीं कर सकती हैं. संगठन ने कोलकाता के सिंथी थाने में शिकायत दर्ज कराई है जिसमें रामदेव पर महामारी के दौरान ‘भ्रामक और झूठी जानकारी’ देने के साथ जनता के बीच भ्रम पैदा करने का आरोप लगाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here