• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

लॉकडाउन में प्रधानमंत्री मोदी से महिला ने मांगी मदद तो ट्रेन रोक बीमार बच्चे तक पहुंचाया गया ऊंटनी का दूध

1 min read

लॉकडाउन में प्रधानमंत्री मोदी से महिला ने मांगी मदद तो ट्रेन रोक बीमार बच्चे तक पहुंचाया गया ऊंटनी का दूध

NEW TODAY – महाराष्ट्र के चेंबूर की निवासी नेहा सिन्हा ने बीते 4 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी से अपने बीमार बच्चे के लिए मदद मांगी थी। इसके बाद रेलवे और देश के कुछ अन्य अफसरों ने मिलकर महिला की मदद करके मानवता की एक अनोखी मिसाल पेश की है।

ये भी पढे- राशन वितरण करने में डीलरों का मनमाना रवैया 

नेहा ने पीएम मोदी को टैग करके लिखा था, ‘सर, मेरा तीन साल का बच्चा ऑटिज्म का शिकार है. साथ ही वो फूड एलर्जी से भी जूझ रहा है. बच्चे को खाने में ऊंटनी का दूध और हल्की मात्रा में दाल देना जरूरी है. लॉकडाउन लग जाने की वजह से मैं बच्चे के लिए पर्याप्त मात्रा में ऊंटनी का दूध इकट्ठा नहीं कर पाई हूं. ऊंटनी का दूध मिलने या राजस्थान के सदरी से इसका पाउडर लाने में मेरी मदद कीजिए।

वहीं महिला का यह ट्वीट पढ़ते ही कई सारे लोग एक्टिव हो गए. ओडिशा-कैडर के आईपीएस अधिकारी अरुण बोथरा से लेकर राजस्थान के रेलवे अधिकारीयों ने इसके लिए काम करना शुरू कर दिया. इसका नतीजा यह हुआ कि कुछ ही समय में 20 लीटर फ्रोजेन कैमल मिल्क और 20 किग्रा कैमल मिल्क पाउडर महिला के घर तक पहुंचा दिया गया। बताते चले कि इस दौरान खास बात ये कि महिला तक कैमल मिल्क तय समय पर पहुंचे, इसके लिए राजस्थान के एक स्टेशन पर पार्सल ट्रेन रोककर दूध का इंतजाम कराया गया और फिर इसे साढ़े 850 किमी दूर मुंबई पहुंचाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें