NEWSTODAYJ_पटनाः मंगलवार को पटना हाईकोर्ट के जिस इंजीनियर राजेश कुमार को निगरानी की टीम ने 8 लाख रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था, वह धनकुबेर निकला. एग्जीक्यूटिव इंजीनियर राजेश कुमार (Executive Engineer Rajesh Kumar) के ठिकानों पर निगरानी टीम की दिन भर छापेमारी चली. वहां से 3 लाख कैश, 2 किलो 380 ग्राम सोना जब्त ,(Illegal Property Recovered from Engineer house In Patna) किया गया. जिसकी कीमत 1 करोड़ 13 लाख रुपये है.

 

इसके अलावा उसके घर से जमीन के कागजात भी मिले हैं. जिसमें गुड़गांव में 5 मंजिला भवन होने का पता चला है. नोएडा में दो दुकानें, 16 बैंक खातों में लगभग 27 लाख रुपये जमा होने की बात सामने आई है.देखें वीडियोइतना ही नहीं, इंजीनियर ने म्यूचुअल फंड में भी साढ़े 3 लाख निवेश किए हैं. उत्तर प्रदेश स्थिति इन्फोटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में भी निवेश का पता चला है. तलाशी के क्रम में एक्सिस बैंक में एक लॉकर का भी पता चला है. इसकी तलाशी बाद में विधिवत की जाएगी. अभियुक्त को पूछताछ के बाद न्यायालय निगरानी पटना में उपस्थित किया जाएगा.बता दें कि मंगलवार को पटना में निगरानी विभाग ने हाईकोर्ट के कार्यपालक अभियंता को 8 लाख रिश्वत लेते पुराने बाईपास कंकड़बाग पटना स्थित चेतन अपार्टमेंट से रंगे हाथ गिरफ्तार किया था. जिसके बाद निगरानी विभाग की छापेमारी के दौरान कार्यपालक अभियंता राजेश कुमार के पटना स्थित घर से करोड़ों की चल और अचल संपत्ति जब्त की गई.

यह भी पढ़े….राज्य की खबरें:सिलेंडर ब्लास्ट में एक ही परिवार के पांच बच्चों की दर्दनाक मौत,डीएम और एसपी जांच के लिए पहुंचे

 

दरअसल, शिकायतकर्ता गोपाल शरण सिंह द्वारा 24 दिसंबर को निगरानी थाना में शिकायत दर्ज कराई गई थी कि कार्यपालक अभियंता द्वारा कार्य करवाने के एवज में उनसे 8 लाख रुपये की मांग की गई है. इसका सत्यापन करवाया गया. सत्यापन में रिश्वत मांगे जाने का प्रमाण पाया गया. इसके बाद टीम गठित कर एग्जीक्यूटिव इंजीनियर राजेश कुमार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *