राज्य:पिपरवार कल्याणपुर में प्रकृति पूजा सरहुल कोरोना महामारी को देखते हुए सादगी पूर्वक मनाया गया

1 min read

राज्य:पिपरवार कल्याणपुर में प्रकृति पूजा सरहुल कोरोना महामारी को देखते हुए सादगी पूर्वक मनाया गया

 

NEWSTODAYJ_राज्य:पिपरवार क्षेत्र के समाजसेवी बालेश्वर उराँव ने कहा सरकार के दिशा निर्देशानुसार कोरोना महामारी को देखते हुए हमलोग सरहुल पर्व सादगी पूर्वक मना रहे है क्योंकि वैश्विक महामारी कोरोना अभी खत्म नही हुआ है। इसको ध्यान में रखते हुए कल्याणपुर सहित पूरे पिपरवार क्षेत्र में सरहुल पर्व सादगी पूर्वक मनाया जा रहा।कल्याणपुर में बहुत ही कम लोगों के साथ सरना स्थल में गाँव के पहन जलेवा मुंडा एवं गाँव के महतो धनेश्वर उराँव ने विधिवत पूजा किए।आगे उन्होंने कहा सरहुल पर्व में हमलोग प्राकृतिक पेड़ पौधे एवं धरती माता की पूजा करते हैं ताकि प्राकृतिक हम सभी मनुष्यों की रक्षा करें अगर प्राकृतिक ही नहीं बचेगी तो हम मनुष्य भी नहीं बचेंगे जिस तरह आज पेड़ पौधों को नष्ट किया जा रहा हैं अगर मनुष्य अभी भी पेड़ पौधों की रक्षा नहीं करेगा तो एक दिन मनुष्य का विनाश निश्चित है मैं सभी से अपील करता हूं प्रत्येक मनुष्य पेड़ अवश्य लगाएं और उस पेड़ को पूजा करने का संकल्प लें ताकि जिस पेड़ को हम पूजा करेंगे उस पेड़ को हम काट नहीं सकते पेड़ पौधा माता पिता के समान हैं होता है। जिस तरह माता-पिता हमें अपने छत्रछाया में रखते हैं उसी तरह पेड़ पौधे भी हमें अपनी छत्रछाया में रखती है।

शोभा खलखो ने कहा सरहुल पर्व को हमलोग प्राकृतिक त्योहार के रूप में मनाते हैं आज के दिन हम लोग चाला आयो धरती माता की पूजा करते हैं सरहुल झारखंड का पारंपरिक त्योहार है।आदिवासियों का महत्वपूर्ण त्यौहार भी है हम लोग प्राकृतिक की पूजन करते हैं।आज के दिन हमलोग सरना फूल को प्रसाद के रूप में ग्रहण करते हैं वहीं मनोज भगत ने कहा लॉकडॉन की वजह से इस वर्ष शोभयात्रा नहीं निकाला जा रहा है साधारण ढंग से सरना मां की पूजा की जा रही है।

मौके पर सुरेंद्र उराँव, वीरेंद्र उराँव, अकलू उराँव, सोहरा पासवान,सुषमा देवी,गौरी देवी,गीता कुमारी,सरिता कुमारी,राजेन्द्र टाना भगत सहित कई लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.