(भूली): फिर से खुशियां लौटाएगी जालान 1 जून से खुल जाएगी जालान फैक्ट्री

न्यूज टुडे

झारखंड बिहार


धनबाद।

भूली। बेरोजगारी की मार झेल रहे लगभग 700 मजदूर जालान फैक्ट्री के बंद हो जाने से बेकार हो गए थे इन मजदूरों के पास कोई काम ना होने की वजह से काफी तकलीफ में थे  बरहाल पूर्व मंत्री मन्नान मल्लिक की पहल से । एक बार फिर से भूली के बंद जालान फैक्ट्री की रौनक लौटने वाली है।

इसके साथ ही महीनों से ई फैक्ट्री के बंद होने बेरोजगारी की मार झेल रहे उन मजदूरों के भी होंठो पर मुस्कान लौटेगी।

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

क्योंकि एक जून से इस फैक्ट्री के बंद ताले खुल जाएंगे। जिसका फैसला गुरुवार को सहायक श्रमाआयुक्त धनबाद के न्यायालय में सुनवाई के बाद हुई।

जिसमें युनियन पक्ष की तरफ से हिन्दुस्तान मैलीएबल्स वर्कर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सह पुर्व मंत्री मन्नान मल्लिक एवं प्रबंधन प्रतिनिधि आर एन पाण्डेय सहित जलान फेक्ट्री के मजदूर काफी संख्या में उपस्थित थे।

प्रबंधन जलान फेक्ट्री को पुनः चालू कराने हेतु प्रबंधन प्रतिनिधि आर एन पाण्डेय द्वारा न्यायालय को गयी हलफनामगयी हलफनामे को सुनते ही संघर्षरत मजदूरों के बीच हर्ष की लहर दौड़ गयी।

फैसले के अनुसार 1 जून को फैक्ट्री में बिजली कनेक्शन जोड़ दिया जाएगा।

इसके बाद 15 दिन के अंदर सफाई के लिए 15 मजदूरों को रखा जाएगा।1 जुलाई से इंगोट प्लांट चालू किया जाएगा। इसके 90 दिन के अंदर फैक्ट्री को पूर्ण रूप से चालू कर दिया जाएगा ।

और मजदूरों का बकाया बोनस भी भुगतान किया जाएगा। इस फैसले से मजदूरों में हर्ष की लहर है।

वार्ता में अश्विनी कुमार महतो, मधुसूदन सिंह चौधरी, लाला चौहान, वालेश्वर यादव, राजेश कुमार सिन्हा, रामेश्वर महतो, राजेंद्र शर्मा, मोतीलाल रवानी, मदन कुमार सिंह, राज कुमार कैशरी, कन्हाई महतो, छोटू महतो,नरायन पंडित, शशि महतो,संतोष शर्मा मो मुबारक अंसारी,धंनजय पासवान, संतोष कुमार, गंधारी मंडल, महेन्द्र ठाकुर, तारकेश्वर भुईया, मो शकीर, सहित सैकड़ों मजदूर उपस्थित थे।

क्या था पूरा मामला।

वर्षो से कम आय देने के साथ पीऍफ़ और इएसआई बंद किये जाने के बाद वर्ष 2017 में भूली स्थित हिन्दुस्थान मैलियबुल्स एंड फोर्जिंग्स लिमिटेड(जालान फैक्ट्री) के मजदूरो के सब्र का बाँध टूट गया और आख़िरकार आन्दोलन का मन बना लिया.

जालान के सभी मजदुरो ने काम पर आना बंद कर दिया। मजदूरों का कहना था कि पुरे झारखंड में न्यूनतम मजदुर साढ़े तीन सौ रूपये लागू हो गयी है. लेकिन यंहा की मनेजमेंट सरकार की ऐसी किसी तरह का लेटर नहीं पंहुचने का हवाला देते हुए पिछले कई महीनो से मात्र 221 रु. ही हाजरी देती है. जिसमे महीने की चार छुट्टी और पर्व त्यौहार की छुट्टी के पैसे भी नहीं मिलते है।

जिसके कारण उन्हें परिवार चलाने में काफी दिक्कत आती है.

इसके साथ ही पहले कर्मियों को महंगाई भत्ता, सालाना बोनस, सुरक्षा बीमा, भविष्य निधि योजना का लाभ दिया जा रहा था लेकिन एकाएक दो महीनो से कर्मियों का इएसआई और पीएफ नहीं काटा जा रहा है.

जिस कारण अगर किसी मजदुर के साथ अनहोनी घटना घटती है तो उनका परिवार निसहाय हो जायेगा. मजदूरो ने अपने मांगो की प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, श्रम विभाग, उपायुक्त, एसपी, एसडीओ को भेजकर अपने हित और न्याय की गुहार लगाईं थी।

रखे आप को आप के आस पास के खबरों जे आप को आगे,newstodayjharkhand.com watsaap9386192053

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here