भारतीय दवा कंपनी जायडस कैडिला ने शुरू की कोरोना वैक्सीन की ह्यूमन ट्रायल

भारतीय दवा कंपनी जायडस कैडिला ने शुरू की कोरोना वैक्सीन की ह्यूमन ट्रायल

NEWSTODAYJ –कोरोना वायरस से पूरी दुनिया जंग लड़ रही है. दुनिया के कई देश कोरोना वायरस की वैक्सीन पर काम कर रहे है. अमेरिका, चीन, रूस, ब्रिटेन जैसे कुछ चुनिंदा देश है, जहां कोविड-19 का वैक्सीन मानव ट्रायल के फेज में पहुंच चुका है। भारत भी इन देशो मे शामिल हो गया है. भारत की देशी दवा कंपनी जायडस कैडिला ने बुधवार को बताया कि उसने एक संभावित कोरोना वैक्सीन के लिए मानव परिक्षण शुरू कर दिया है.पिछले दिनों आईसीएमआर के सहयोग से तैयार भारत बायोटेक के वैक्सीन और जायडस के वैक्सीन को हरी झंडी दी गई थी.

ये भी पढ़े…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

बिहार मे कोरोना वायरस का संक्रमण राजभवन तक पंहुचा , 20 कर्मचारी मिले पॉजिटिव

Zydus कंपनी ने कहा कि ZYCoV-D, प्लास्मिड डीएनए वैक्सीन को प्री-क्लिनिकल टॉक्सिसिटी अध्ययनों में सुरक्षित माना गया है. इसके पहले इस कोरोना वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल में प्रतिरक्षा और इम्युनिटी टेस्ट के अच्छे परिणाम सामने आए हैं. कंपनी ने कहा कि पहले मानव डोज के साथ ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल्स के पहले और दूसरे फेज की शुरुआत हो गई है।

बता दे की रूस ने वैक्सीन का ट्रायल पूरा कर लेने की बात कही है तो अमेरिका में भी कोविड-19 के पहले टीके का परीक्षण अंतिम चरण में है। अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना की कोरोना वायरस वैक्‍सीन अपने पहले ट्रायल में पूरी तरह से सफल रही. इस वैक्‍सीन ने प्रत्‍येक व्‍यक्ति के अंदर कोरोना से जंग के लिए एंटीबॉडी विकसित किया. मॉडर्ना की वैक्‍सीन की एक और अच्‍छी बात यह रही कि इसका इतना कोई खास साइड इफेक्‍ट नहीं रहा जिसकी वजह से वैक्‍सीन के ट्रायल को रोक दिया जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here