भारत:देश के लिए राहत की खबर,2.5 लाख कोरोना मरीज एक दिन में स्वस्थ

1 min read

भारत:देश के लिए राहत की खबर,2.5 लाख कोरोना मरीज एक दिन में स्वस्थ….

NEWSTODAYJ_भारत:कोरोना वायरस से तकरीबन एक माह बाद राहत मिलती नजर आ रही है। देश में पहली बार एक दिन में 2.5 लाख से ज्यादा मरीज कोरोना से स्वस्थ हुए हैं। वहीं, हर दिन मिलने वाले मामलों में भी थोड़ी कमी दर्ज की गई है।

हालांकि, गंभीर बात यह है कि एक दिन में संक्रमण के चलते 2771 मरीजों ने जान गंवा दी है। इसी के साथ देश में संक्रमण के चलते मरने वालों की संख्या करीब दो लाख तक जा पहुंची है। कुल मौतें 1,97,894 हो गई हैं
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, एक दिन में 3,23,144 संक्रमित मिले हैं। वहीं, इस दौरान 2,51,827 मरीजों को स्वस्थ घोषित किया गया। 28 मार्च के बाद से ही देश में हर दिन संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

हालांकि, बीते सोमवार की तुलना में मंगलवार को मिले आंकडे़ कोरोना के ग्राफ में थोड़ी कमी का संकेत दे रहे हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक, फिलहाल दो सप्ताह तक यही स्थिति रहने के बाद ही कहा जा सकता है कि दूसरी लहर अब नियंत्रण की ओर आगे बढ़ रही है।

मंत्रालय ने बताया कि पिछले एक दिन में देश के आठ राज्यों में कोरोना वायरस से किसी मरीज की मौत नहीं हुई है। हालांकि, पिछले चार दिन से इन राज्यों की संख्या पांच थी, मगर यह अब बढ़कर आठ तक पहुंच चुकी है। देश में कोरोना वायरस की सक्रिय दर 16.34 फीसदी तक पहुंच चुकी है। 28,82,204 सक्रिय मरीजों का इलाज हो रहा है।

18 से ऊपर वालों के लिए पंजीयन आज से
देश में 18 से 44 साल तक के लोगों को एक मई से टीका लगाया जाएगा। इसके लिए कोविन पोर्टल पर बुधवार से पंजीयन कराना होगा। टीकाकरण केंद्र पर पंजीयन नहीं होगा।

नागरिकों को केंद्र पर पंजीयन दिखाना होगा, इसके बाद ही उन्हें टीका लगेगा। वहीं, 45 साल से ऊपर के लोगों को टीका लगवाने के लिए पहले की तरह दोनों तरह के विकल्प रहेंगे। वह ऑनलाइन पंजीयन कराने के बाद भी आ सकते हैं और सीधे केंद्र पर आकर पंजीयन कराकर टीका लगवा सकते हैं।

अमेरिका भेजेगा 4.5 लाख रेमडेसिविर की शीशियां
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की ओर से भारत की मदद की अपील के बाद 40 शीर्ष अमेरिकी कंपनियां सामने आई हैं। अमेरिका के कई व्यापार संगठन मिलकर कुछ सप्ताह में 20,000 ऑक्सीजन कन्संट्रेटर भारत भेजेंगे।

ये कंपनियां प्रशासन के साथ मिलकर दवाएं, टीके, आक्सीजन और अन्य जीवन रक्षक उपकरण भी भेजेंगी। वहीं, दवा निर्माता कंपनी गिलियड साइंसेज भारत में रेमडेसिविर की उपलब्धता बढ़ाने के लिए अपने सहयोगियों को तकनीकी मदद और दवा में इस्तेमाल होने वाली सामग्री उपलब्ध कराएगी। इसके अलावा कंपनी भारत को 4.5 लाख रेमडेसिविर की अतिरिक्त शीशियां मुहैया कराएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.