• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

पुरे जिले में वैवाहिक शहनाई के जगह गूंज रहे हैं पुलिस के सायरन

1 min read

पुरे जिले में वैवाहिक शहनाई के जगह गूंज रहे हैं पुलिस के सायरन

NEWS TODAY बोकारो:- शादी विवाह समारोह के लिए सबसे बड़ा मुहूर्त है अक्षय तृतीया लेकिन यह पहला मौका है वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते लागू लॉकडाउन के कारण गोमिया के सड़कों और बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है।

ये भी पढ़े-कोरोना की रणनीति के लिए पीएम मोदी आज फिर मुख्यमंत्रियों से करेंगे बात

कई लोगों ने शादीरद्द कर दी हैं तो कइयों ने लॉकडाउन की तिथि से आगे बढ़ा दिया है। शादी, सगुन, सगाई सहित अन्य मांगलिक कार्य के लिए अक्षय तृतीया का मुहूर्त सबसे शुभ माना जाता है। इसमें भारी मात्रा में गहनों आभूषणों की खरीदारी कर नवयुगल परिणय सूत्र में बंधते हैं, लेकिन पूरे देश में लॉकडाउन व सोशल डिस्टेंस का पालन करने के लिए इस बार इलाके में ढोल, ताशे और बैंडबाजे की आवाज नहीं सुनाई दे रही है।

जबकि पुलिस वाहन के सायरन चरम पर है। पुलिस द्वारा सायरन और हूटर बजाकर सड़कों पर जमघट लगाने वालों को सरेआम खदेड़ा जा रहा है। लॉकडाउन से सबसे ज्यादा प्रभावित शादी समारोह के पहले से तैयार बैंडबाजे व उनके कलाकार, हलवाई उनके साथ काम करने वाले लोगों के लिए परेशानी बनकर आया है। जिनकी इस सीज़न में ही पूरे साल की कमाई रहती है। शादी ब्याह के अवसर पर खाना बनाने वालें, टेंट व्यवसायी, मैरिज हॉल, बर्तन व्यवसाय, ज्वेलरी वर्कशॉप, कपड़ा व्यवसायी, डेकोरेशन, शादी ब्याह में काम करने वाले मजदूर वर्ग पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। इन व्यवसाय से जुड़े लोगों का पूरा सीजन ही बिगड़ गया है। हर साल अक्षय तृतीया पर प्रत्येक गांव में शहनाई की गूंज और डीजे की धूम सुनाई देती थी, लेकिन आज पुरे जिले में पुलिस के सायरन सुनाई दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें