बाबा श्याम की भक्तिरस में सराबोर हुआ झरिया। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर…….

धनबाद।

बाबा श्याम की भक्तिरस में सराबोर हुआ झरिया। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर…….

झरिया। भक्तों के बीच हारे के एक मात्र सहारे के रूप मे जाने जाने वाले बाबा श्याम की महिमा झरिया के कण कण में गुंजायमान हुई। सैकड़ो लोगों के मुख से खाटू नरेश का गुणगान ने काले हीरे की नगरी को भावपूर्ण कर दिया।भक्ति की रसगंगा में सांवरे सरकार के भक्तों ने जमकर डुबकी लगाई। यह कार्यक्रम था उत्साह ओर श्याम बाबा के प्रति समर्पण के भाव से जुड़े श्याम भक्तोम की संस्था श्री श्याम सलोना परिवार की ओर से आयोजित नवम् श्री श्याम महोसत्व का।
लगाए गए नाना प्रकार के भोग
कार्य्रकम की शुरुआत दस सितम्बर की संध्या चार बजे ज्योत प्रज्वलन से हुई। दरबार एवं ज्योत पूजा के बाद अहिलवती के लाल को नाना प्रकार के भोग लगाये गए। इस समंबंध मेॆ श्री श्याम सलोना परिवार के सदस्यों ने बताया कि बाबा श्याम को सर्वप्रथम फलों का भोग लगाया गया। फिर मोर मुकुट बंसी वाले को छप्पन भोग लगया गया।कार्यक्रम की समाप्ति के पहले तक सवामणी भोग, मेवा भोग, केक भोग और टॉफ़ी भोग सांवरे सरकार को लगाए गए। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद विशाल भंडारा का भी आयोजन किया गया।
गायकों ने बांधी समा
इस अवसर पर कोलकता से आये प्रसिद्ध गायक श्यामअग्रवाल, मनीष शर्मा ने एक सा बढ़कर एक भजन प्रस्तुत किये। वहीं, धनबाद के पिंटू शर्मा ने तो अपने गायन से भक्तों को झूमने पर विवश कर दिया।

ये भी पढ़ें- ‘लल्‍लू की लैला’ की अभिनेत्री यामिनी सिंह ने कहा – एडवांस हो रहा भोजपुरी सिनेमा का स्‍टेंडर्ड।

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

मनोहारी नाटिका रही आकर्षण का केंद्र
नवम् श्री श्याम महोत्सव में मनमोहक नाटिका विशेष आकर्षण का केंद्र रही। नाटिका की भावपूर्ण प्रस्तुति ने भक्तों को मंत्रमुग्ध कर दिया। पागल बेटा बाबा श्याम का नाटिका भक्तों के बीच खूब लोकप्रिय रही।
आयोजन स्थल की हुई अनुपम सजावट
आयोजन के अवसर पर मंदिर को बखूबी सजाया गया। इसके लिए विविध प्रकार के यत्न किये गए। बाबा श्याम का भव्य शृंगार फूलों से किया गया। गुब्बारों की सजावट सबका मन मोह लिया.
कई दिनों से हो रही थी तैयारी
समस्त पदधिकारी आयोजन की सफलता के लिए संलग्न थे।उत्साही सदस्यगण रात-दिन एक कर के पूरी गम्भीरता के साथ कार्यक्रम की रूप रेखा तैयार करने मे लगे थे।
देश के विभिन्न हिस्सों के लोग हुए शामिल
नवम् वार्षिक उत्सव में सिर्फ धनबाद नहीं, बल्कि कोलकाता, रानीगंज, बनारस, रायपुर, पटना, आदि लोग शामिल हुए।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here