बच्चा चोरी की अफवाह के बाद भीड़ हुई उग्र, महिला की हुई जम कर पिटाई

(गिरीडीह)

बच्चा चोरी की अफवाह के बाद भीड़ हुई उग्र, महिला को पीटा एसडीपीओ उरांव के वक्त रहते पहुंचने पर टला बड़ा हादसा।

संतोष तिवारी;-गिरिडीह। बच्चा चोरी के अफवाह में स्थानीय लोगों ने सोमवार को गिरिडीह के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के बनियाडीह स्थित यूनियन बैंक में पैसे निकालने आई महिला की जमकर धुनाई कर दी। अफवाह भर से ही स्थानीय लोगों में आक्रोश कुछ इस कदर भड़का हुआ था, कि लोग महिला को जान मारने के लिए उतारु थे। गनीमत रही कि सदर एसडीपीओ जीतवाहन उरांव पुलिस जवानों के साथ समय रहते घटनास्थल बनियाडीह के यूनियन बैंक पहुंच गए। जिसके कारण महिला की जान बच गई। इस दौरान एसडीपीओ उरांव और पुलिस जवानों ने किसी प्रकार भीड़ के बीच से महिला को सुरक्षित निकाला।जिसे महिला की जान तो बच गई। लेकिन गुस्साएं भीड़ ने इस दौरान पुलिस वाहन पर पथराव भी कर दिया। जिससे वाहन के क्षतिग्रस्त होने की बात सामने आ रही है।

मारपीट करने वालों को चिन्हित कर होगी कार्रवाई: एसडीपीओ।

पत्थराव की स्थिति उत्पन्न होने के बाद पुलिस को गुस्साएं भीड़ को हटाने के लिए हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। इधर लोगों की पीटाई से गंभीर रुप से जख्मी महिला को पुलिस सुरक्षित मुफ्फसिल थाना ले गई। जहां अब भी महिला की स्थिति गंभीर बनी हुई है। वहीं घटना के बाद एसडीपीओ जीतवाहन उरांव ने कहा कि जिन लोगों भीड़ तंत्र पैदा कर बच्चा चोरी के अफवाह में महिला की पीटाई किया है। उनकी पहचान कर लिया गया है और जल्द ही उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। इधर अफवाह के बीच घटना जब स्पस्ट हुआ, तो जिस महिला का बच्चा था। उस महिला ने पीड़ित महिला लीलावती देवी से माफी भी मांगी।

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

रोते हुए बच्चे को चुप कराने का मिला ईनाम।

जानकारी के अनुसार बनियाडीह इलाके के चुंजका निवासी हीरा लाल दास की पत्नी लीलावती देवी पैसे निकालने बनियाडीह के यूनियन बैंक गई हुई थी। जबकि अकदोनीकला गांव निवासी संजय दास की पत्नी ललिता देवी अपने बच्चें के साथ भी यूनियन बैंक गई हुई थी। बैंक से पैसे निकालने के दौरान ही ललिता देवी बच्चें को छोड़कर पैसे निकालने लगी। इस बीच बच्चा रोने लगा तो लीलावती देवी ने ललिता के बच्चें को गोद में उठाकर उसे चुप कराने लगी। इसी क्रम में गलत फहमी की शिकार ललिता ने हल्ला करना शुरु कर दिया। जिससे भीड़ जमा हो गई और लोगों ने लीलावती देवी के साथ मारपीट करने लगे।NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here