पटना हाइकोर्ट के वरिष्ठ जज ने कहा- भ्रष्टाचारियों को मिलता हैं न्यायपालिका का संरक्षण! पढ़ें पूरी खबर……..

पटना।

पटना हाइकोर्ट के वरिष्ठ जज ने कहा- भ्रष्टाचारियों को मिलता हैं न्यायपालिका का संरक्षण! पढ़ें पूरी खबर……..

पटना। भ्रष्टाचारियों को मिलता हैं न्यायपालिका का संरक्षण। यह बात एक वरिष्ठ जज द्वारा कहना साधारण बात नहीं है। बताते चलें कि पटना हाइकोर्ट के सबसे वरिष्ठ जज राकेश कुमार ने कहा है कि लगता है कि हाइकोर्ट प्रशासन ही भ्रष्ट न्यायिक अधिकारियों को संरक्षण देता है। बताते चलें कि जस्टिस राकेश कुमार ने अपने सीनियर और मातहतों की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठाए हैं। उन्होंने अपने कुछ सहयोगी जजों पर भी मुख्य न्यायाधीश के आगे पीछे करने का आरोप लगाया है। बता दें कि उन्होंने ये सख़्त टिप्पणी पूर्व आईपीएस अधिकारी रमैया के मामले की सुनवाई के दौरान की। इस दौरान उन्होंने ये सवाल भी उठाए की सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट से ज़मानत ख़ारिज होने के बाद निचली अदालत ने रमैया को बेल कैसे दे दी। उन्होंने कहा कि रमैया की अग्रिम जमानत की याचिका उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायालय द्वारा ख़ारिज कर दी गई थी, इन्होनें निचली अदालत से अपनी जमानत मैनेज की वो भी तब जब निगरानी विभाग के नियमित जज छुट्टी पर थे, उनके बदले जो जज प्रभार में थे उनसे जमानत ली गई। वहीं जस्टिस राकेश कुमार ने ये भी कहा कि जिस न्यायिक अधिकारी के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार का आरोप साबित हो चुका है उसे भी बर्खास्त करने के बजाय मामूली सज़ा देकर छोड़ दिया जाता है। उन्होंने कहा कि स्टिंग में कोर्ट कर्मचारी घूस लेते पकड़े जाते हैं फिर भी उनपर कार्रवाई नहीं की जाती। जस्टिस कुमार ने स्टिंग मामले में स्वतः संज्ञान लेते हुए मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी। वहीं आपको बता दें कि जस्टिस राकेश चारा घोटाला केस में सीबीआई के वकील भी रह चुके हैं।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here