नहीं मिलेगी 375 रुपए की न्यूनतम दैनिक दिहाड़ी, केंद्र सरकार ने सिफारिश को ठुकराया।

नई दिल्ली।

नहीं मिलेगी 375 रुपए की न्यूनतम दैनिक दिहाड़ी, केंद्र सरकार ने सिफारिश को ठुकराया।

नई दिल्ली। 375 रुपए की न्यूनतम दैनिक दिहाड़ी की सिफारिश को मोदी सरकार ने ठुकरा दिया है। वहीं केंद्र सरकार ने न्यूनतम दिहाड़ी तय करने के लिए नई समिति भी गठित की है। बताते चलें कि हाल में पारित हुए मजदूरी एक्ट के तहत सरकार को मानक मजदूरी अधिसूचित कर सकती है। कोई भी राज्य सरकार इस मानक मजदूरी से नीचे न्यूनतम मजदूरी तय नहीं कर सकता है। अधिकारियों का कहना है कि श्रम और रोजगार मंत्रालय ने मानक मजदूरी को 200 से 225 रुपए के बीच में रखने के संकेत दिए है। वर्तमान में अधिकतर राज्यों में न्यूनतम मजदूरी 200 रुपए के करीब है। केंद्र सरकार की तरफ से हर दूसरे साल राष्ट्रीय न्यूनतम मानक मजदूरी अधिसूचित की जाती है। हालांकि,राज्यइस लागू करने के लिए बाध्य नहीं हैं। साल 2017 में यह दर 176 रुपए अधिसूचित की गई थी। इस साल जुलाई में मजदूरी की नई दर अधिसूचित की जानी है। सीपीएम की मजदूर इकाई सीआईटीयू के उपाध्यक्ष एके पद्मनाभन ने कहा कि वह सरकार के निर्णय से हैरान नहीं है।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here