नई दिल्ली।

नई दिल्ली में आयोजित राजभाषा प्रदर्शनी में एक स्टॉल नराकास धनबाद और एक स्टॉल बीसीसीएल का लगाया गया। पढ़ें पूरी खबर…..

नई दिल्ली। नराकास उपक्रम दिल्ली-2 के तत्वावधान में दिनांक 23-24 अगस्त 2019 को कॉन्स्टिटूशनल क्लब के एनेक्सी हाल में दो दिवसीय अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में देश के विभिन्न उपक्रमों से लगभग 300 प्रतिभागियों ने सहभागिता की तथा 26 राजभाषा प्रदर्शनी स्टाल लगाए गए। सम्मेलन का उद्घाटन हडको के सीएमडी डा. एम.रविकान्त आईएएस ने अपनी पूरी निदेशक मंडली के साथ किया। संगोष्ठी में आयोजित राजभाषा प्रदर्शनी में एक स्टॉल नराकास धनबाद और एक स्टॉल बीसीसीएल का लगाया गया। इस प्रदर्शनी में पूरे भारत की नराकास समितियों में से केवल नराकास धनबाद का ही स्टॉल लगाया गया। बीसीसीएल और नराकास धनबाद को छोड़कर शेष सभी कार्यालय दिल्ली के ही थे जिनके द्वारा अपने स्टॉल लगाए गए। सम्मेलन के दौरान पाँच सत्रों में केंद्र सरकार के कार्यालयों में हिंदी का महत्व,कार्यालयी कार्य में सरल,सहज,सुबोध हिंदी का प्रयोग,हिंदी के प्रयोग में आने वाली बाधाओं को दूर करना,संसदीय राजभाषा समिति की निरीक्षण प्रश्नावली तथा कम्प्यूटरीकृत हिंदी जैसे विषयों पर प्रकाश डाला गया। कोल इंडिया की ओर से कोल इंडिया दिल्ली कार्यालय तथा बीसीसीएल ने सम्मेलन में सहभागिता की। सम्मेलन में कोल इंडिया को निम्नलिखित उपलब्धियाँ हासिल हुई-
बीसीसीएल एवं धनबाद नराकास तथा कोल इंडिया दिल्ली कार्यालय की राजभाषा परदर्शिनी को मिले राजभाषा उत्कृष्टता प्रमाण पत्र। महाप्रबंधक(कार्मिक/राजभाषा)एवं उप प्रबंधक राजभाषा बीसीसीएल ने जीते एक-एक राजभाषा प्रश्नोत्तरी पुरस्कार। महाप्रबंधक(कार्मिक एवं औ.स.)राजपाल यादव ने प्रथम दिन आयोजित कवि गोष्ठी में शिरकत कर उपस्थित पाँच कवियों में बीसीसीएल की ओर से करायी उपस्थिति दर्ज।
राजपाल यादव ने भी समापन समारोह पर प्रतिभागियों को किया संबोधित और बीसीसीएल में अंतरराष्ट्रीय विश्व हिंदी दिवस पर हर वर्ष आयोजित होने वाले आगामी राष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन 10.01.2020 में सहभागिता के लिए सभी संस्थानों के प्रतिनिधियों को आने का निमंत्रण भी दिया।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *