• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

धनबद की धरती से भी विशेष लगाव रहा है,पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का

1 min read

समाचार एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करे,,,,,,,9386192053,,,,,,,,,

धनबद की धरती से भी विशेष लगाव रहा है,पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का…

धनबाद।पूर्व प्रधानमंत्री व भाजपा के हृदय कहे जाने वाले भाजपा नेता अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद ही नाजुक बनी हुई है और वह दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं।

ऐसे में देश भर से तमाम लोग व भाजपा से जुड़े हुए नेतागण उनके जल्द ही स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं ।वही धनबाद से कुछ यादें उनकी जुड़ी हुई है इस मामले पर यह हमारे संवाददाता ने यहां के सांसद विधायक और जिस रणधीर वर्मा चौक पर लोकसभा चुनाव 2004 के दौरान वाजपेयी जी की सभा हुई थी। ग्राउंड के पास एक गुमटी चला रहे दुकानदार से बात की।

आपको बता दें कि भाजपा के सिंदरी से विधायक फूलचंद मंडल का कहना है कि अटल जी भाजपा के हृदय हैं और भगवान से जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं ।उन्होंने कुछ पुरानी यादों को ताजा किया…

और उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी जी के साथ मुझे नाश्ता और खाना खाने का भी सौभाग्य प्राप्त हुआ है। विधायक जी ने बताया कि गोविंदपुर में श्री सत्यनारायण दुदानी जी के आवास पर वाजपेयी जी से मुलाकात हुई थी…

और 2 से 3 बार 80 के दशक में धनबाद आए थे।जनसंघ से जुड़े होने के कारण सत्यनारायण दुदानी के यहां उनका आना जाना लगा रहता था। सत्यनारायण दुदानी बिहार के वित्त राज्य मंत्री रह चुके हैं। अक्सर वाजपेयी जी धनबाद आने पर उनके घर गोविंदपुर जाया करते थे।

2004 के लोकसभा चुनाव के दौरान अटल जी का एक सभा धनबाद के रणधीर वर्मा स्टेडियम उर्फ गोल्फ ग्राउंड में हुआ था। वहां बाहर में एक चाय की दुकान चला रहे दुकानदार से जब बात की गई ।तो दुकानदार ने कहा कि वाजपेयी जी का विचार सबसे अलग था।वह जाती पाती से ऊपर काम करते थे और खासकर उन्हें देखने के लिए जो लोग इस मैदान पर पहुंचे हुए थे वे किसी पार्टी के द्वारा बुलाई नहीं गए थे।

चाय वाले ने स्पष्ट तौर पर कहा की मैं और भी रणधीर वर्मा स्टेडियम में सभी पार्टियों का सभा देखता हूं।जिसमें जितने भी लोग आते हैं उसमें पार्टी के झंडे गाड़ियों पर लगे रहते हैं।लेकिन वाजपेई जी का भाषण सुनने के लिए लोग किसी खास पार्टी की गाड़ियों में चलकर नहीं आए थे बल्कि वह यहां पर स्वयं पहुंचे हुए थे।

वही धनबाद के सांसद पशुपतिनाथ सिंह का कहना है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी व्यक्तित्व के धनी थे और प्रत्येक जिले के कार्यकर्ता को चेहरे से पहचान लेते थे यह उनमें बड़ी बात थी।

कार्यकर्ताओं के आग्रह पर धनबाद के केंदुआ में रांची से आने के दौरान एक बार एक चाय की दुकान में बेंच पर ही उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं के आग्रह पर भाषण दिया था।उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु ने अटल बिहारी वाजपेयी के भाषण को सुनकर बहुत पहले ही यह कह दिया था कि यह लड़का एक दिन भारत का प्रधानमंत्री होगा।

धनबाद के सांसद ने कहा कि वाजपेयी जी ने इंदिरा गांधी से एक बार कहा था कि आपके पास सारी व्यवस्था है टेलीविजन है रेडियो है न्यूज़ पेपर है ।दो-चार दिन हमें भी दे दीजिए। उसके बाद देख लीजिए कि भारत में आपका रंग रहता है या मेरा रंग रहता है।

धनबाद सांसद ने कहा लोगों को कभी विश्वास भी नहीं था कि भाजपा की भी कभी सरकार बनेगी लेकिन अटल जी ने यह कर दिखाया और वह विश्व के नेता के रूप में प्रसिद्धि भी मिली।

गरीब के बच्चे कैसे पढ़ें इसे सोचते हुए अटल जी ने सर्व शिक्षा अभियान चलाया कांग्रेस भाजपा के नीतियों की आलोचना के बाद भी सर्व शिक्षा अभियान को बंद नहीं कर पाई

सर्व शिक्षा अभियान, GT रोड का चौड़ीकरण और नदियों को जोड़ने की जो बातें कही थी वह आज पूरा भी हुआ।

अटल जी ने बड़ी बुलंदी के साथ यह पाकिस्तान से पूछा था कि आजादी के समय कितने मुस्लिम भारत में थे ।उनमें बढ़ोतरी हुई की कमी हुई ।और आजादी के समय कितने हिंदू पाकिस्तान में थे उनमें कमी हुई या बढ़ोतरी हुई। भारत में मस्जिदों में कमी हुई या बढ़ोतरी हुई वहां मंदिरों में त में हुई या बढ़ोतरी हुई। इस आवाज को भी उठाया था।

बांग्लादेश के विभाजन पर पार्टी लाइन से उठकर इंदिरा गांधी को अटल जी ने दुर्गा कहा था। क्योंकि दुर्गा बनकर वह पाकिस्तान से युद्ध को जीती थी और बांग्लादेश का उदय हुआ था। वह हमेशा देश के बारे में सोचते थे उन्होंने कहा था कि पार्टी अलग हो सकती है लेकिन देश सबका एक ही रहेगा।

धनबाद सांसद ने कहा कि यह दुर्भाग्य की ही बात है कि प्रधानमंत्री पद से वह जैसे ही हटा GT रोड चौड़ीकरण में वाजपेयी जी का लगाया गया सारा पोस्टर और बैनर कांग्रेस के द्वारा हटा दिया गया। जबकि यह कार्य अटल जी का ही किया गया है।

रखे आप को आप के आस पास के ख़बरों से आप को आगे.newstodayjharkhand.com watsaap.9386192053

Leave a Reply

Your email address will not be published.