“दूधिया तथा आमटाल पंचायत में ग्रामीणों ने लिया “स्वच्छता” एवं “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” का संकल्प”

धनबाद।

“दूधिया तथा आमटाल पंचायत में ग्रामीणों ने लिया “स्वच्छता” एवं “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” का संकल्प”

धनबाद। आम जनों को सरकार की विभिन्न लाभकारी एवं कल्याणकारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी देने के लिए आज बलियापुर प्रखंड के दूधिया एवम आमटाल पंचायत भवन में जिला सूचना एवम जनसंपर्क कार्यालय, धनबाद एवम मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र द्वारा जनजागरूकता कार्यक्रम सह सेमिनार का आयोजन किया गया। समारोह में बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे और उन्होंने सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त की। सर्वप्रथम राष्ट्रगान से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया तत्पश्चात कार्यक्रम में स्थानीय कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जलशक्ति अभियान एवम स्वच्छ भारत अभियान से सम्बंधित नाटक का भव्य प्रदर्शन किया। नाटक के माध्यम से सभी को “पानी बचाओ, जीवन बचाओ” एवम “जल ही जीवन है” का सन्देश दिया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र, रांची के प्रशिक्षक श्री चंद्रभूषण रवि ने ग्रामीणों को बताया कि मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र द्वारा पंचायत स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य ग्रामीणों को सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में बारीकी से जानकारी देना है। सरकार ने गांव तथा ग्रामीणों के विकास के लिए कई प्रकार की योजनाएं लागू की हैं। उन्होंने बताया की मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना अंतर्गत झारखंड राज्य के सभी किसानों को खेती करने में मदद करने के उद्देश्य से झारखंड सरकार द्वारा प्रति एकड़ 5000 रुपये की राशि सीधे किसानों के बैंक खाते में DBT के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही है। इसके अलावा केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत कुल 6000 रुपये की राशि किसानों को प्रति वर्ष उपलब्ध कराई जा रही है। मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र, धनबाद के जिला समन्वयक श्री रवि प्रकाश सिंह ने ग्रामीणों से आग्रह करते हुए कहा जल, वृक्ष पर्यावरण बचना हमारा कर्तव्य है। ऐसे आयोजन का सारे लोगों को लाभ उठाना चाहिए। अधिकतर लोग जानकारी के अभाव में विभिन्न योजनाओं से वंचित रह जाते हैं। झारखंड सरकार की कैबिनेट में हुए फैसले के आलोक में उन्होंने बताया कि अब हर गरीब परिवार की बेटियों को मुख्यमंत्री सुकन्या योजना तथा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत लाभ दिया जाएगा। पूर्व में इन योजनाओं का लाभ सिर्फ SECC सूची में शामिल परिवार को दिया जाता था। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत झारखंड राज्य के प्रत्येक गरीब परिवार की कन्या के विवाह में सहयोग करने के उद्देश्य से झारखंड सरकार द्वारा कुल 30000 रुपये की राशि सीधे उनके बैंक खाते में DBT के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री सुकन्या योजना, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, पारिवारिक संपत्ति बटवारा में छूट योजना, 1 रुपये में रजिस्ट्री योजना, झारखंड श्रमिक पेंशन योजना, मेधा छात्रवृति योजना, सौभाग्य योजना, प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना, सभी प्रकार की पेंशन से संबंधित योजनाओं के अलावा अन्य कई लोककल्याणकारी योजनाओं के विषय मे उपस्थित ग्रामीणों को विस्तार से बताया। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को “जलशक्ति” एवम “स्वच्छता” से संबंधित शपथ भी दिलाई गई। कार्यक्रम मे पंचायत के मुखिया, उपमुखिया, वार्ड सदस्य, पंचायत सचिव तथा JSLPS के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here