• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

दिल्ली: पीएम मोदी का बड़ा कदम कोरोना से बचाव के लिए, वैक्सीन उत्पादकों से आज करेंगे अहम चर्चा

1 min read

दिल्ली: पीएम मोदी का बड़ा कदम कोरोना से बचाव के लिए, वैक्सीन उत्पादकों से आज करेंगे अहम चर्चा

NEWSTODAYJ_दिल्ली:देश में कोरोना पर लगाम के लिए पीएम मोदी भी लगातार बैठकें कर रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को पीएम मोदी वैक्सीन निर्माताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करेंगे। इस दौरान कोरोना स्थिति और टीकाकरण को लेकर अहम चर्चा होगी।

वीडियो कॉन्फ्रेंस से होने वाली यह बैठक शाम 6 बजे होगी. इसमें जैव प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से एक प्रस्तुति भी दी जाएगी। टीका उत्पादक कंपनियों के साथ भी यह विभाग समन्वय करेगा। आपको बता दें कि कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी की ये तीसरी अहम बैठक है।पीएम करेंगे वैक्सीन निर्माताओं से बात

पीएम मोदी मंगलवार को वैक्सीन निर्माओं से अहम चर्चा करेंगे। इस दौरान कुछ राज्यों में वैक्सीन की कमी को पूरा करना अहम मुद्दा होगा। दरअसल देश में 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों को भी वैक्सीन लगाई जानी है, ऐसे में वैक्सीन की खपत तेजी से बढ़ेगी। यही वजह है कि पीएम मोदी नहीं चाहते हैं कि देश में कहीं भी वैक्सीन की कमी हो।

बताया जा रहा है कि पीएम मोदी के साथ बैठक में भारत के साथ ही विदेशों की भी शीर्ष दवा निर्माता कंपनियों के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। जिन कंपनियों के टीकों को भारत सरकार की मंजूरी मिली हुई है, उनके भी इस बैठक में शामिल होने की संभावना है।

आपकोबता दें कि अब तक ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश-स्वीडिश कंपनी एस्ट्रोजेनेका की ओर से विकसित ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक कंपनी एवं भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ( ICMR ) और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान के साथ साझेदारी में विकसित ‘कोवैक्सीन’ टीके भारत में दिए जा रहे हैं।

इससे पहले पीएम मोदी ने देशभर के प्रमुख डॉक्टरों के साथ बैठक की, जिसमें कई अहम फैसले लिए गए। वहीं, इससे पहले 17 अप्रैल को हुई कोरोना की समीक्षा बैठक में पीएम मोदी ने जोर देकर कहा था कि परीक्षण, ट्रैकिंग और उपचार का कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.