दिल्ली: जहां संक्रमण ज्यादा हो वहां 14 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाए: केंद्र का राज्यों को निर्देश

1 min read

दिल्ली: जहां संक्रमण ज्यादा हो वहां 14 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाए: केंद्र का राज्यों को निर्देश

केंद्र ने राज्यों से उन इलाकों की जानकारी जुटाने के लिए कहा है जहां संक्रमण दर 10 फीसदी या उससे अधिक है….

NEWSTODAYJ_दिल्ली:कोरोना वायरस महामारी की भयावह रफ्तार को देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि जिन इलाकों में संक्रमण ज्यादा है, वहां पर 14 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाया जाए, ताकि संक्रमण की कड़ी तोड़ने में मदद मिल सके। केंद्र ने राज्यों से उन इलाकों की जानकारी जुटाने के लिए कहा है जहां संक्रमण दर 10 फीसदी या उससे अधिक है। इन इलाकों में स्थानीय तौर पर लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इस बीच, उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार शाम से मंगलवार सुबह सात बजे तक के लॉकडाउन को बढ़ाकर छह मई सुबह सात बजे तक कर दिया है। उधर, चंडीगढ़ में भी 11 मई तक लॉकडाउन लगाया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा, संक्रमण दर अधिक होने के अलावा अगर किसी एक विशेष स्थान पर सबसे ज्यादा मरीज सामने आ रहे हैं या फिर जहां मरीजों की संख्या ज्यादा है तो वहां भी स्थानीय लॉकडाउन लगाया जा सकता है। हालांकि, केंद्र ने पूरे राज्य या फिर जिले में लॉकडाउन लगाने की सिफारिश नहीं की है। मंत्रालय के अनुसार, देश में करीब 250 जिले ऐसे हैं जहां कोरोना की संक्रमण दर 10 फीसदी या उससे अधिक है। पिछले एक सप्ताह के दौरान इन जिलों की स्थिति में थोड़ा सुधार भी हुआ है। सरकार ने राज्यों से कहा है कि वे नए सिरे से उन जिलों या स्थान की पहचान करें जहां सबसे ज्यादा मामले मिल रहे हैं। कई बार यह भी देखने को मिल रहा है कि एक ही जिले में एक गांव या कस्बा सबसे अधिक प्रभावित है, जबकि अन्य स्थानों पर संक्रमण का एक भी मामला नहीं है। ऐसी स्थिति में पूरे जिले में लॉकडाउन लगाने से बेहतर होगा कि संक्रमण प्रभावित गांव या कस्बे में ही 14 दिन का लॉकडाउन लगाया जाए।

यह भी पढ़ें……

दिल्ली:कोरोना की दवाइयों, ऑक्सीजन की जमाखोरी करने वालों पर होगी अवमानना की कार्रवाई : हाईकोर्ट

 

 राज्यों में संक्रमण दर 15 फीसदी से ज्यादा

मंत्रालय ने दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के शुरुआती संकेत मिलने का दावा किया है। हालांकि, अगर संक्रमण दर पर गौर भी किया जाए तो अभी 22 राज्य ऐसे हैं, जहां यह 15 फीसदी से अधिक है। इनके अलावा नौ राज्यों में संक्रमण दर 5 से 15 फीसदी और केवल पांच राज्यों में यह पांच फीसदी से कम है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार पांच फीसदी संक्रमण दर तक स्थिति आसानी से नियंत्रित की जा सकती है।

 

कोविड राहत सामग्री के आयात पर आईजीएसटी में छूट

सरकार ने सोमवार को कोविड संबंधी राहत सामग्री के आयात एकीकृत वस्तु एवं सेवा कर (आईजीएसटी) पर 30 जून तक छूट दे दी है। यह छूट उन सभी राहत सामग्री पर दी गई है, जो मुफ्त में बांटने के लिए दान में दी गई है या फिर भारत के बाहर मुफ्त में मिली हो। यह छूट उन वस्तुओं पर भी लागू होगी, जिनका पहले ही आयात किया जा चुका है, मगर सीमाशुल्क बंदरगाहों से हरी झंडी नहीं मिली है। सरकार ने पहले ही रेमडेसिविर इंजेक्शन समेत कोविड राहत सामग्री पर से सीमा शुल्क से छूट दी है।

यह भी पढ़ें…..

दिल्ली:दुर्गापुर से दिल्ली पहुंची ऑक्सीजन एक्सप्रेस, 120 टन है क्षमता

कर्नाटक में ऑक्सीजन की कमी से 24 की मौत

कर्नाटक के चामराजनगर में ऑक्सीजन की कमी के चलते 24 से ज्यादा मरीजों की मौत हो गई। इनमें 23 कोरोना संक्रमित और एक दूसरी बीमारी से पीड़ित मरीज  हैं। कहा जा रहा है कि जिन मरीजों का कोरोना से इलाज चल रहा था वह सभी वेंटिलेटर पर थे। हालांकि, सरकार ने ऑक्सीजन की कमी की बात से इनकार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.