दिल्ली: कोरोना की तीसरी लहर में हो रही कमी,आईआईटी दिल्ली ने तीसरी लहर को लेकर क्या कुछ कहा……

दिल्ली: कोरोना की तीसरी लहर में हो रही कमी,आईआईटी दिल्ली ने तीसरी लहर को लेकर क्या कुछ कहा……

 

NEWSTODAYJ_दिल्ली:कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार जिंदगी के लिए आफत बनी हुई है, जिससे लोगों की लगातार जान जा रही है। कोरोना के नए पॉजिटिव मामलों में गिरावट जरूर देखने को मिली है, लेकिन खतरा अभी भी बना हुआ है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी दूसरी लहर अब बेदम दिखाई दे रही है, जिससे हालात भी सुधरने लगे हैं।

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

 

 

शनिवार को एक हजार से भी कम नए मामले सामने आए हैं, जो संख्या लंबे समय बाद देखी गई। इस बीच आईआईटी दिल्ली ने तीसरी लहर के लिए एक चेतावनी जारी कर दी है। आईआईटी दिल्ली ने एक रिपोर्ट में साफ तौर पर चेतावनी दी कि राजधानी को अब कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयार रहना होगा।

यह भी पढ़ें..दिल्ली: एक सप्ताह के लिए बढ़ा लॉकडाउन,सिर्फ 2 कामों के लिए दी जाएगी छूट

 

साथ ही कहा कि आईआईटी दिल्ली का कहना है कि तीसरी लहर के दौरान दिल्ली में मरीजों की संख्या में 60 फीसदी तक बढ़ सकती है। राजधानी में रोजाना 45,000 से भी ज्यादा मामलों का अनुमान लगाया जा रहा है। इस स्थिति में आईआईटी ने अस्पतालों में पड़ने वाली ऑक्सीजन की जरुरत पर भी ध्यान आकर्षित किया है।

 

 

आईआईटी का कहना है कि दिल्ली को कोरोना की तीसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की भारी जरुरत पड़ सकती है। ऐसे में संस्थान ने आगाह किया है कि राजधानी में ऑक्सीजन इन्फ्रास्ट्रक्चर को सुधारना सबसे जरुरी है। इससे महामारी के दौरान ऑक्सीजन सप्लाई में मदद मिलेगी।

संयुक्त टीम ऑक्सीजन से जुड़ी मुश्किलों और कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए राज्य को मजबूत करने की ओर अग्रसर

एक रिपोर्ट के अनुसार आईआईटी दिल्ली, केजरीवाल सरकार के साथ राज्य में ऑक्सीजन के बुनियादी ढांचे और सप्लाई चेन मैनजेमेंट को बेहतर बनाने पर काम कर रही है। IIT दिल्ली के विशेषज्ञों और दिल्ली सरकार के अधिकारियों की एक संयुक्त टीम ऑक्सीजन से जुड़ी मुश्किलों और कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए राज्य को मजबूत करने की ओर अग्रसर है।

 

शुक्रवार को इस संयुक्त टीम ने दिल्ली हाई कोर्ट को एक रिपोर्ट भी सौंपी है। आईआईटी दिल्ली की तरफ से प्रोफेसर संजय धीर ने कोर्ट से कहा कि हम पूरी कोशिश में हैं कि कैसे दिल्ली सरकार की ऑक्सीजन सम्बंधित मामलों में मदद कर सकें और यह तय कर सकें की राज्य में किसी भी मरीज की ऑक्सीजन की कमी से मौत ना हो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here