• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

दिल्ली:प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुद्वारा श्री शीशगंज साहिब में टेका मत्‍था, की प्रार्थना……

1 min read

दिल्ली:प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुद्वारा श्री शीशगंज साहिब में टेका मत्‍था, की प्रार्थना……

 

NEWSTODAYJ_दिल्‍ली:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह गुरुद्वारा श्री शीशगंज साहिब पहुंचे और वहां पर मत्‍था टेका. गुरुद्वारा पहुंचने के बाद पीएम मोदी ने प्रार्थना की और कुछ देर वहीं बिताया. बता दें कि पीएम मोदी अचानक गुरुद्वारा पहुंचे. इस दौरान उनके साथ कोई विशेष सुरक्षा नहीं दिखाई दी और न ही वह किसी विशेष सुरक्षा मार्ग के गुरुद्वारे में पहुंचे.

 

सिखों के नौवें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के समापन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह गुरुद्वारा श्री शीशगंज साहिब पहुंचे. पहले ऐसी खबर आई थी कि श्री गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के मौके पर पीएम मोदी श्री गुरु तेग बहादुर के स्मारक का लोकार्पण करेंगे.

 

इस विशालकाय स्मारक में गुरु के त्याग और बलिदान की जानकारी होगी. सेंट्रल वर्ज पर इसे 40 फीट ऊंचाई और 25 फीट चौड़ाई में बनाया गया है. इसकी मोटाई सात फीट है.

जानकारों की मानें तो इस समय जहां पर शीशगंज गुरुद्वारा बना है वहां मुगल बादशाह औरंगजेब के कहने पर एक जल्‍लाद ने श्री गुरु तेग बहादुर के साथ उनके शिष्‍यों का गला काट दिया था. औरंगजेब की ओर से धर्म परिवर्तन के नाम पर कई तरह के प्रलोभन भी दिए गए थे और बाद में गुरु तेग बहादुर के सामने उनके शिष्‍यों को मौत के घाट उतार दिया गया. इसके बाद भी उन्होंने साफ कहा था कि शीश कटा सकते हैं पर केश नहीं. इसके चलते यह ऐतिहासिक गुरुद्वारा विश्व भर के लोगों की श्रद्धा का केंद्र है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें