• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

जीनागोरा पैच के डेविशन मामले में बीसीसीएल के सात अफसरों पर गिरी गाज- सभी को लगी मेजर पेनाल्टी

1 min read

जीनागोरा पैच के डेविशन मामले में बीसीसीएल के सात अफसरों पर गिरी गाज- सभी को लगी मेजर पेनाल्टी

NEWSTODAYJ  बीसीसीएल के सात अफसरों को जीनागोरा पैच के डेविशन मामले में मेजर पेनाल्टी हुई है। मामला आउटसोर्सिंग कंपनी देवप्रभा से जुड़ा था। मामला 2016-17 का है। जीनागोरा पैच का अवार्ड लगभग 400 करोड़ में हुआ था। कुछ महीनों में डेविएशन का प्रस्ताव लाकर उक्त प्रोजेक्ट में आठ सौ करोड़ रुपए जोड़ दिया गया। विजिलेंस से इसकी शिकायत की गई थी। आरोप लगाया गया था कि आउटसोर्सिंग कंपनी को बड़े प्रोजेक्ट का वर्क एक्सपीरिएंस(कार्य अनुभव) के लिए ऐसा किया गया था। बाद में जांच में आरोप सही पाए गए। उक्त मामले में तत्कालीन दो निदेशक डी गांगुली, निदेशक तकनीक एवं राजशेखर, निदेशक वित्त पर भी आरोप लगे। निदेशक होने के कारण इनकी जांच मंत्रालय के स्तर पर हुई। फिलहाल कार्रवाई वाले अफसरों की सूची में दोनों निदेशकों के नाम नहीं हैं। दोनों रिटायर भी हो चुके हैं।

ये भी पढ़े…

पिज्जा डिलीवरी का काम करने वाला बना उग्रवादी लॉकडाउन में काम छूटा तो निकल पड़ा गलत राह पर

मामले में दोषी अधिकारी एक स्टेज नीचे किए गए हैं। कार्रवाई में अधिकारियों का पद नहीं घटा है लेकिन बेसिक में कमी की जाएगी। यानी अधिकारियों को आर्थिक नुकसान होगा। मेजर पेनाल्टी से संबंधित फाइल पर सीएमडी पीएम प्रसाद ने दो दिन पहले हस्ताक्षर कर दिया है। कार्रवाई की जद में आए अधिकारियों में कई जीएम रैंक के हैं। मेजर पेनाल्टी की जद में आए अधिकारियों में कई डेविएशन के लिए जिम्मेदार माने गए तो कुछ उस कमेटी में शामिल थे, जिन्हें जांच की जिम्मेदारी दी गई थी। जांच कमेटी ने भी गलत रिपोर्ट दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.