• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

(चीन कांड) सुनील कुमार अमर रहें से गूंजा आसमां, पत्नी ने सलामी देते हुए कहा- मेरा पति अमर रहे…

1 min read

NEWSTODAYJ बिहार: लद्दाख में चीन के साथ झड़प में शहीद हुए जवानों के पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचने लगे हैं। शहीदों के गांवों में ग़म और गुस्से का माहौल है। इस झड़प में बिहार के बिहिटा के जवान हवलदार सुनील कुमार भी शहीद हो गए। शहीद सुनील कुमार का पार्थिव शरीर गुरुवार की सुबह उनके घर सिकरिया के तारापुर गांव पहुंच गया।

यह भी पढ़े…

पेट्रोल – डीजल के कीमतों में लागतार बढ़ोतरी को लेकर वित्त मंत्री ने तंज कसा केंद्र सरकार पर…

लद्दाख सीमा पर शहीद 16 बिहार रेजीमेंट के जवान सुनील को जब अंतिम विदाई दी जा रही थी, तो उनकी पत्नी ने खुद को संभालते हुए पति को सलामी दी। उन्होंने कहा- मेरा सुनील अमर रहे। इस दौरान गांव के नौजवानों ने शहीद की आखिरी विदाई के लिए 400 मीटर लंबा तिरंगा तैयार कराया था। इसी तिरंगे की छांव में शहीद सुनील का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए उनके घर पहुंचा। इस दौरान शहीद सुनील कुमार अमर रहें और भारत माता की जय के नारों से पूरा गांव गूंज उठा।

यह भी पढ़े…

अनलॉक-1 : सैकड़ों दुकानदार सड़क पर उतरे , सरकार के खिलाफ जाम कर विरोध प्रदर्शन किया…

घर पर पहुंचे सेना के अधिकारियों ने आवश्यक कार्यवाही पूरी करने के बाद शहीद के शव को उनके परिजनों को सौंप दिया। इसके बाद घर मे हिन्दू रीति रिवाजों के साथ संस्कारों को परिजनों ने पूरा किया। इसके बाद वीर जवान की शव यात्रा शुरू हुई। शहीद सुनील का पार्थिव शरीर जिस रास्ते से गुजरा वहां के लोगों ने छतों से शहीद पर फूलों की बारिश की। परिजनों ने बताया कि सेना के जवानो के साथ परिजन शव को लेकर मनेर के हल्दी छपरा जाएंगे जहां पर गार्ड ऑफ ऑनर के साथ-साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

यह भी पढ़े…

पोकलेन मशीन को जलाने व हाइवा मशीन को क्षतिग्रस्त करने का खुलासा , एक गिरफ्तार…

बता दें कि शहीद सुनील कुमार ने 2002 में बिहार रेजिमेंट में ज्वाइन किया था। इनकी शादी 2003 में हुई थी। शहीद सुनील अपने पीछे अपनी पत्नी, 2 बेटों और एक बेटी को छोड़ गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.