गुजरात:गुजरात तट से 185 किमी की रफ्तार से टकराया ताउते तूफान,चार राज्यों में 18 की मौत….

गुजरात:गुजरात तट से 185 किमी की रफ्तार से टकराया ताउते तूफान,चार राज्यों में 18 की मौत….

NEWSTODAYJ_गुजरात:अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ताउते 185 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से सोमवार रात 8 बजे के करीब गुजरात तट से टकराया। कर्नाटक, गोवा, केरल और महाराष्ट्र में 18 की मौत हुई। इनमें से महाराष्ट्र में 6 की मौत हुई। इन राज्यों में हजारों घर ढह गए। वहीं गुजरात में डेढ़ लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

 

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

इससे पहले मुंबई में तूफान ने भारी तबाही मचाई और महाराष्ट्र में छह लोगाें की मौत हुई। वहीं दो बड़ी नौकाओं में 410 लोग तूफान में फंस गए जिनको बचाने के  लिए नौसेना के तीन जहाजों ने मोर्चा संभाला।

 

यह भी पढ़ें….कोरोना अपडेट:राहत की खबर, कोरोना के नए मामले 3 लाख से कम,3719 की हुई मौत

मौसम विभाग के मुताबिक ताउते के जमीन से टकराने की प्रक्रिया करीब दो घंटे तक चली। तूफान की दस्तक से पहले सोमवार को गुजरात में 1.5 लाख लोगों को सुरक्षित निकाला गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र, गोवा, गुजरात के मुख्यमंत्रियों व दमन एवं दीव के उपराज्यपाल से फोन पर बात की और स्थिति का जायजा लिया, साथ ही तूफान से निपटने के लिए केंद्र सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया। गृहमंत्री अमित शाह ने भी मुख्यमंत्रियों से बात कर स्थिति का जायजा लिया।

गुजरात के सोमनाथ और केंद्रशासित दमन व दीव में कई जगहों पर पेड़ गिरने की वजह से रास्ते अवरुद्ध हो गए। 

 

तीनों सेनाएं अलर्ट पर 

ताउते से निपटने के लिए रक्षामंत्री  राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं को अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया। वहीं सेना ने गुजरात में अपनी 180 टीमें और 9 इंजीनियर टास्क फोर्स को तैनात किया।

 

पीएम मोदी ने की उद्धव समेत अन्य मुख्यमंत्रियों से बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बात कर स्थिति की समीक्षा की। ठाकरे ने पीएम को नुकसान और बचाव कार्य की जानकारी दी। मोदी ने उद्धव के अलावा गुजरात और गोवा के मुख्यमंत्रियों और दमन एवं दीव के उपराज्यपाल से भी बात की। पीएम मोदी ने सभी को तूफान से निपटने में केंद्र की ओर से हर संभव मदद मुहैया कराने का आश्वासन दिया। गृहमंत्री अमित शाह ने भी मुख्यमंत्रियाें से बात कर तूफान से हुए नुकसान और राहत कार्य का जायजा लिया।

 

बॉम्बे हाई में दो नौकाओं में 410 लोग फंसे, नौसेना ने संभाला मोर्चा

मुंबई से करीब 8 नॉटिकल मील दूर बॉम्बे हाई के पास तूफान की चपेट में आकर एक बड़ी नौका (बजरा) भटक गई। इस पर इंजीनियर व कर्मचारी समेत 273 लोग सवार थे। सूचना पर नौसेना ने आईएनएस कोच्चि और तलवार को तत्काल बचाव कार्य के लिए रवाना किया। इसके अलावा जीएएल कंस्ट्रक्टर की एक नौका भी भटकी जिस पर 137 लोग सवार थे। आईएनएस कोलकाता को इसके बचाव में लगाया गया है।

 

गुजरात में दो दशक बाद इतना भयानक तूफान

गुजरात में दो दशक बाद इतना भयानक तूफान आया है। इससे पहले 1998 में कांडला में आए तूफान ने भारी तबाही मचाई थी। मौसम विभाग के मुताबिक इस दौरान गुजरात में 190-210 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। इसे श्रेणी 3 का तूफान माना जा रहा है। गुजरात के प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 54 टीमें तैनात की गई हैं। 1998 के तूफान में 4 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। सीएम विजय रूपाणी ने कहा कि हालात से निपटने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे।

 

एशियाई शेरों पर भी संकट

गुजरात के सौराष्ट्र में पाए जाने वाले एशियाई शेरों पर भी तूफान का खतरा मंडरा रहा है। ताउते से सौराष्ट्र में सबसे अधिक तबाही की आशंका है। इस इलाके में करीब 40 शेर हैं और वन्य जीव विभाग इन पर पूरी नजर रख रहा है। अधिकारियों के मुताबिक कुछ शेर पहले ही ऊंचाई वाले स्थान पर पहुंच गए हैं।

 

अब तक कुल 18 की मौत

ताउते से सोमवार को महाराष्ट्र के कोंकण में छह लोगों की मौत हुई। इसमें रायगढ़ में तीन, सिंधुदुर्ग में एक और नवी मुंबई में दो लोग मारे गए। इसके अलावा कर्नाटक में आठ लोगों की मौत हुई। वहीं रविवार को ताउते से चार लोगों की जान गई थी। इस तरह महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और केरल में अब तक 18 मौते हुई। कर्नाटक में अब तक 333 घरों, 644 खंभों, 147 ट्रांसफार्मरों, 57 किलोमीटर सड़क, 57 जालों और 104 नावों को नुकसान पहुंचा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here