कोरोना अपडेट:कोरोना के इलाज में सबसे प्रभावी दवा रेमडेसिविर की किल्लत, इंजेक्शन के लिए सूरत में लगी लंबी कतार

1 min read

कोरोना अपडेट:कोरोना के इलाज में सबसे प्रभावी दवा रेमडेसिविर की किल्लत, इंजेक्शन के लिए सूरत में लगी लंबी कतार…

 

NEWSTODAYJ_कोरोना अपडेट:देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच एक दवा की चर्चा भी इन दिनों सुर्खियों में है। ये दवा है रेमडेसिविर । दरअसल इस दवा का इस्तेमाल कोरोना के इलाज के दौरान किया जा रहा है। यही वजह है कि इस दवा की किल्लत कई राज्यों में शुरू हो गई है।

कोरोना के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली दवा रेमडेसिविर की कमी के बीच गुजरात स्थित सूरत में बीजेपी के कार्यालय पर एंटीवायरल ड्रग रेमडेसिविर को फ्री बांटा जा रहा है।

 

इस दवा को लेने के लिए बीजेपी के सूरत दफ्तर पर 100 मीटर से ज्यादा लंबी लाइन लगी है। अपने परिजनों के लिए लोग रेमडेसिविर का डोज लेने के लिए यहां पहुंचे हुए हैं।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार सुबह 10.40 बजे, रेमडेसिविर इंजेक्शन से भरी एक निजी कार बीजेपी के सूरत दफ्तर में आई। कार में जाइडस हेल्थकेयर की ओर से निर्मित इंजेक्शन था। बीजेपी वर्कर्स ने बक्से इकट्ठे किए और फिर सुबह 11 बजे, पूर्व नगरसेवक मनु पटेल के साथ कमल के प्रतीक के साथ नारंगी-पेपर टोकन बांटे।

 

टोकन में बीजेपी आईटी विभाग के स्थानीय प्रमुख विजय राडिया के दस्तखत भी थे। 50-50 लोगों का एक-एक राउंड करके दवाइयां दी जा रही थीं। लोगों को जैसे ही इसके बारे में जानकारी मिली बड़ी संख्या में लोग पहुंचने लगे और लंबी कतार लग गई।

 

किडनी, लिवर को नुकसान पहुंचाती है रेमडेसिविर

गुजरात सरकार ने रेमडेसिविर को लेकर हाईकोर्ट में बताया है कि इसको लेकर बहुत तेजी से ये खबर फैल रही है कि इसे कोरोना के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। जबकि ये एक इमरजेंसी दवा है, जिसका इस्तेमाल घरों में नहीं होना चाहिए।

 

राज्य सरकार ने बताया कि इस दवा में साइक्लोडेक्ट्रीन है जो किडनी और लिवर को खराब कर सकती है। ऐसे में ये इमरजेंसी में ही इस्तेमाल की जानी चाहिए।

 

आपको बता दें कि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, दिल्ली, झारखंड समेत कई राज्यों में रेमडेसिविर दवा की कमी सामने आई है। वहीं राज्य सरकारों को कहने पर केंद्र सरकार ने इसके निर्यात पर भी रोक लगा दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.