कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी को पत्र लिखें झारखंड मुख्यमंत्री 6 से 9 महीने तक नीलामी की रोक लगाने का आग्रह…

1 min read

NEWSTODAYJ:रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी को पत्र लिखकर कोयला और अन्य खनिजों की व्यावसायिक नीलामी पर छह से नौ महीने तक की रोक लगाने का आग्रह किया है। पत्र में मुख्यमंत्री ने लिखा है कि वर्तमान में कोविड-19 के कारण देश व विदेश में आवागमन पर कई तरह के प्रतिबंध हैं। इस कारण देश-विदेश के कई निवेशक ऑक्शन में भाग नहीं ले सकेंगे। इतना ही नहीं आज निवेशक आर्थिक संकट के दौर से भी गुजर रहे हैं, जिससे ऑक्शन का उद्देश्य पूरा नहीं हो पाएगा। मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में कहा है कि कई स्थानीय कंपनियां फिलहाल आर्थिक संकट से जूझ रही हैं।

ये भी पढ़े…

 

झारखंड : स्कूलों में पढ़ाई, क्या होगा नियम और सब कुछ , जाने कब से शुरू होगी पढ़ाई

राज्य सरकार के पास स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को लाने के लिए खनन पॉलिसी भी है, जिसमें आधुनिक तकनीक और उपकरण का उपयोग कर पर्यावरण और वन क्षेत्र में रहने वाले लोगों को कम से कम प्रभावित करते हुए कोयला समेत अन्य खनिजों का बेहतर खनन हो सकता है। हेमंत सोरेन ने कहा है कि वह केंद्र सरकार के निर्णय के खिलाफ नहीं हैं लेकिन खनन के साथ-साथ आदिवासी बहुल झारखंड का बेहतर विकास व पर्यावरण संरक्षण भी सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए।

 

ये भी पढ़े….

 

चेतावनी : झारखंड के इन जिलों में वज्रपात बारिश होने की संभावना…

मुख्यमंत्री ने कहा है कि केंद्र सरकार के कोयला क्षेत्र में कमर्शियल माइनिंग के फैसले का झारखंड स्वागत करता है। उम्मीद है कि खनिज प्रधान झारखंड को इसका विशेष लाभ मिलेगा। लेकिन फिलहाल इस बाबत राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आकर्षित करने में कठिनाई हो सकती है। इसलिए नीलामी की प्रक्रिया पर तत्काल रोक लगनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.