आजीविका मीशन के तहत आभूषण से खुद की जिंदगी को संवारती जिले की महिलाएं। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……..

धनबाद।

आजीविका मीशन के तहत आभूषण से खुद की जिंदगी को संवारती जिले की महिलाएं। क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर……..

धनबाद। आज आजीविका मिशन ने जिले की महिलाओं को एक नयी पहचान दिलाई है। बताते चलें कि महिलाओं ने सम्मान के साथ खुद की तथा अन्य महिलाओं की जिंदगी को भी संजोया है। बताते चलें कि धनबाद जिला गोविंदपुर प्रखंड के पश्चिमी संकुल में रहने वाली किरण दीदी आज अपने नाम के अनुसार कई महिलाओं के हाथों पर अपने बनाये आभूषणों से मुस्कुराहट की किरण बिखेर रही हैं। बता दें कि चूड़ी और आभूषण महिलाओ की सौभाग्य की निशानी होती है। और इसी सौभाग्य की निशानी ने सवारी है किरण दीदी की जिंदगी। आजीविका मिशन के लाडली आजीविका सखी मंडल में जुड़कर सक्रिय महिला के पद पर अपने समूह के साथ गांव के 16 समूह की देखभाल करती है किरण दीदी। किरण दीदी बताती है मेरे समूह के सभी दीदी मजदूरी के काम के लिए बाहर जाती थी। जहाँ मजदूर के रूप में सम्मान की कमी और कभी कभी गलत व्यवहार देख कर मुझे बहुत खराब लगता था। आजीविका मिशन के कर्मचारियों द्वारा पता चला कि बैंक ऑफ इंडिया और आजीविका मिशन द्वारा प्रायोजित रूरल स्टार एम्प्लॉयमेंट ट्रेनिंग इंस्टीटूट (RSETI) में चूड़ी के तेरह दिवसीय प्रशिक्षण होने वाला है। सुन कर एक नई उम्मीद के साथ प्रशिक्षण में भाग ले प्रशिक्षण प्राप्त किया। वहीं प्रशिक्षण लेने के बाद आजीविका मिशन से क्रेश क्रेडिट पर समूह के मिले ऋण से ₹10000 लेकर आवश्यक समान की खरीदारी कर घर में ही चूड़ी बनाना शुरू किया। साथ में समूह के अन्य महिलाओं को भी चूड़ी बनाना सिखाया। अभी समूह के सभी दीदी मिलकर चूड़ी बना रहे हैं और साथ में धनबाद में होने वाले सरस मेला का भी तैयारी कर रहे हैं। अब ये सभी महिलाएं मजबूरी पर ना जा कर घर में ही नई नई खूबसूरत चूड़ियों के माध्यम से अपनी आजीविका का तराश कर आमदानी को बढ़ा रही है और सम्मान पूर्वक ज़िन्दगी बिता रही है। आगे और भी आभूषण जैसे पायल, गला का सेट, कान का बाली और अन्य आभूषण का प्रशिक्षण ले कर अपने व्यवसाय को बढ़ाना चाहती है।किरण दीदी आज गर्व से RSETI और आजीविका मिशन को धन्यवाद देती हुई बताती है कि आज की महिला कमजोर नहीं बल्कि नया इतिहास रचने वाली है।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here