अब यूजर्स डिलीट करा सकते हैं Aarogya Setu App से अपना डेटा

1 min read

अब यूजर्स डिलीट करा सकते हैं Aarogya Setu App से अपना डेटा

NEWS TODAY – केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस के लिए बनाई आरोग्य सेतु ऐप के यूजर्स की जानकारी और डेटा से जुड़े मामलों पर नई गाइडलाइंस जारी की हैं. इसके तहत कोई भी यूजर आरोग्य सेतु पर उसकी तरफ से दी गई संबंधित जानकारियों और डेटा को डिलीट करने का अनुरोध कर सकता है.उपयोगकर्ताओं की इस अपील पर 30 दिन के अंदर कार्रवाई की जाएगी. साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के खिलाफ सजा का प्रावधान भी किया गया है. गाइडलाइंस के अनुसार 180 दिनों से अधिक डेटा के भंडारण पर रोक लगायी गई है, जो कि पहले 60 दिन थी.Indian Government launches Aarogya Setu app to track Coronavirus ...

सारकार ने आरोग्य सेतु इमरजेंसी डेटा एक्सेस और नॉलेज शेयरिंग प्रोटोकॉल, 2020 के तहत इन नियमों को बनाया है, जो अगले छह महीनों के लिए लागू होगा. उपयोगकर्ता के नाम, मोबाइल नंबर, आयु, लिंग, पेशा और यात्रा इतिहास के बारे में डेटा इस दायरे में आते हैं. मंत्रालय ने कहा कि अधिकांश मामलों में यूजर्स का मोबाइन नंबर, लोकेशन और दूसरी गोपनीय जानकारियां 180 दिन के अंदर स्थायी रूप से हटा दी जाएंगी. लेकिन जब तक प्रोटोकॉल लागू रहेगा तब तक जनसांख्यिकीय डेटा रहेगा. यदि कोई व्यक्ति अनुरोध करता है कि उसे हटा दिया जाए, तो अनुरोध के 30 दिनों के भीतर ऐसा कर दिया जाएगा.

ये भी पढे… 

54 हजार से अधिक यात्रियों ने मात्र 3 घंटे में कराया रिजर्वेशन-पढे रिजर्वेशन के नियम

प्रोटोकॉल के तहत केंद्र सरकार की विभिन्न एजेंसियों के साथ-साथ राज्य सरकारों के साथ “डी-आइडेंटेड” रूप में स्वास्थ्य से जुड़े मामलों में सहायता करने के लिए डेटा साझा करने की अनुमति देता है. हालांकि निष्पक्ष रूप से डेटा को संभालने की जिम्मेदार इन एजेंसियों और राज्य सरकारों की होगी और वे इसे 180 दिनों से ज्यादा सेव नहीं रख सकती हैं. साथ ही इसके लिए NIC ऐसी विभिन्न एजेंसियों की एक लिस्ट भी तैयार करनी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.