• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Weather:पिछले कई दिनों से लगातार बारिश,आज भी भरी बारिश के आसार

1 min read

NEWSTODAYJ_Weather:देश के कई राज्यों में पिछले कई दिनों से बार लगातार बारिश (Heavy Rain) हो रही है। देशभर में बीते एक हफ्ते से कहीं रुक-रुक कर कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश हो रही है। आसमान में छाये बादल बरसने (Aaj Ka Mausam) को आतुर हैं। लगातार हो रही बारिश के साथ-साथ आंधी और आकाशीय बिजली ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। मौसम विभाग (MID) के मुताबिक फिलहाल लोगों को इससे राहत मिलती (Weather Alert) नहीं दिख रही है।

यह भी पढ़े….Weather Update:आज भी देश के कई हिस्सों में होगी मूसलाधार बारिश,बारिश से संबंधित घटनाओं में सोलह लोगों की हो चुकी है मौत

मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में 18 से 20 सितंबर तक के लिए चेतावनी (Weather Forecast) जारी की है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इन राज्यों में अगले तीन दिन भारी बारिश (Monsoon Update) की संभावना हैं। कई राज्यों में 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। बारिश के कारण उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार, गुजरात सहित कई राज्यों में स्थिति ज्यादा खराब हो गई है।

मौसम विभाग के अनुसार, पिछले दो दिनों से ट्रफ रेखा उत्तर-पूर्व से शिफ्ट होकर पश्चिम-पूर्व की ओर जा रही है। इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी में स्थित चक्रवाती हवा का क्षेत्र पश्चिम की तरफ झारखंड, बिहार के साथ ही हिमालय के तराई तक प्रसारित हो रही है। जिसके प्रभाव से बिहार के कई जिलों में बारिश का अनुमान है।

विदाई से पहले मानसून (Monsoon Update) देशभर में जमकर बरस रहा है। पहले मानसून (Monsoon 2021) की विदाई की तारीख 20 सितंबर तक बताई जा रही है। लेकिन अब ये तारीख आगे बढ़ता दिख रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर मध्य प्रदेश पर बना कम दबाव का क्षेत्र पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है, जिससे वातावरण में नमी आ रही है, जिसकी वजह से पश्चिम यूपी और दिल्ली एनसीआर में अगले 7 दिनों तक भारी बारिश का अनुमान है।

मौसम विभाग ने राजस्‍थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिसा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत देश के मैदानी इलाकों में 23 सितंबर तक बारिश की संभावना जताई है।

19-21 सितंबर के दौरान उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा के साथ व्यापक वर्षा होने की संभावना है। अगले 5 दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम भारत के बाकी हिस्सों में हल्की से मध्यम और भारी बारिश की संभावना है।

सबसे अधिक बारिश गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली-एनसीआर समेत कई इलाकों में हुई है। मौसम विभाग (IMD0 के पूर्वानुमान के मुताबिक20 सितंबर तक बारिश का सिलसिला यूं ही चलता रहेगा। इस दौरान कई जिलों में गरज-चमक के साथ बिजली भी गिर सकती है।

18 से 20 सितंबर तक उपरोक्त क्षेत्रों में भारी गिरावट के साथ ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल में वर्षा की गतिविधि बढ़ने की संभावना है और अगले 3 दिनों के दौरान गुजरात क्षेत्र, राजस्थान और पश्चिम मध्य प्रदेश में छिटपुट भारी वर्षा के साथ व्यापक वर्षा होने की संभावना है। गुजरात राज्य में वर्षा की गतिविधि 19 सितंबर से बढ़ने की संभावना है।

स्काईमेट वेदर की रिपोर्ट के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान, पूर्वी उत्तर प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, नागालैंड और असम के पूर्वी हिस्सों के साथ-साथ अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

वहीं पूर्वोत्तर भारत, बिहार, झारखंड, शेष उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, गुजरात और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, ओडिशा के कुछ हिस्सों, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश का पूर्वानुमान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.