Video viral : वारयल विडियो में थाना प्रभारी भुक्तभोगी को फटकार लगाते हुए , “आँख निकल लेने की धमकी देते” (देखें विडियो)…

0
[URIS id=45547]
न्यूज़ सुने

Video viral : वारयल विडियो में थाना प्रभारी भुक्तभोगी को फटकार लगाते हुए , “आँख निकल लेने की धमकी देते” (देखें विडियो)…

NEWSTODAYJ : धनबाद जिले के बलियापुर थाना क्षेत्र के 95 वर्षीय बुजुर्ग जगनारायण साव व उसके दत्तक पुत्र प्रमोद साव निशक्त है दोनों ने बलियापुर थाना प्रभारी से लेकर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सिंदरी, पुलिस अधीक्षक सिटी धनबाद,वरीय पुलिस अधीक्षक धनबाद को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।

भुक्तभोगी ने दिए आवेदन में कहा कि 7 जुलाई 2020 को शिवरतन साव व उनके पुत्र काजू साव ने उनके कमरे का सारा सामान लूट कर मकान को कब्जा कर लिया है। उसी दिन थाना को इसकी सूचना दिए जाने के बाद से अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। जिससे वे लोग काफी भयभीत हैं। मामले को ले कई बार पंचायती भी हुई है। बावजूद अभी तक इस दिशा में सकारात्मक पहल नहीं हुई।

यह भी पढ़े…Effect of video viral : वीडियो वायरल होते ही , दुकानदार निलंबित , एक किलो चावल कम देते थे दुकानदार…

बलियापुर थाना परिसर में दोनों पक्षों के बीच क्षेत्र के समाजसेवी एवं जनप्रतिनिधि जांच अधिकारी बालाजी राजहंस मुखिया पति विजय गोराई पंचायत समिति सदस्य मनीष अग्रवाल जिला परिषद सदस्य घनश्याम ग्रोवर समाजसेवी अनवर अली खान मार्क्सवादी समन्वय समिति के प्रखंड अध्यक्ष गणेश महतो के समक्ष आपसी सहमति बनाने को लेकर बैठक हुई ।

बैठक मे नहीं बनी सहमति।

बैठक में मौजूद समाजसेवी एवं जनप्रतिनिधियों ने जांच अधिकारी के समक्ष अपनी बातें रखते हुए कहा कि वर्ष 2013 -14 के दौरान मौखिक तौर पर उन दोनों पक्षों के बीच सहमति बनी थी जिसमें मकान के किराए के शिवरतन साव द्वारा जगनारायण साव को ₹25000 का भुगतान करना होगा एवं संबंधित विवादित जमीन पर जग नारायण साहू को 3 डिसमिल भूभाग शिवरतन साव को देना सुनिश्चित किया गया था।

क्या कहना है नि:शक्त पिता-पुत्र का।

निशक्त पिता जग नारायण साव एवं प्रमोद साव का कहना है कि समाजसेवी एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा रखी गई बात में कुछ हद तक सच्चाई है ₹25000 जो दिया गया है वह मकान के किराए के रूप में दिया गया है।

यह भी पढ़े…Transfer : झारखंड राज्य में 8 IAS अधिकारियों का तबादला, चंदन कुमार बने धनबाद के ADM…

ना कि 3 डिसमिल भूमि के लिए। वर्तमान समय में समाजसेवी एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा दबाव बनाया जा रहा है पूर्व में हुए बैठक के दौरान ऐसी कोई भी लिखित समझौता नहीं हुआ था अगर हुआ है तो दूसरे पक्ष कागजात प्रस्तुत करें।

गोपाल चन्द्र घोषल थाना प्रभारी की भूमिका।

जांच अधिकारी समाजसेवी एवं जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में संबंधित मामले पर वार्ता हो रही थी एवं पूर्व के हुए पंचायतों पर चर्चाएं हो रही थी इसी दौरान थाना प्रभारी गोपाल चंद्र घोषाल मौके पर पहुंचकर निशक्त पिता-पुत्र को डांटते हुए नजर आए एवं वरीय अधिकारियों तक पत्राचार करने को लेकर निशक्तो को फटकार लगाते हुए दिखे।

क्या कहना है जांच अधिकारी का।

जाँच अधिकारी बालाजी राजहंस ने कहा कि वर्तमान समय में अंचल अधिकारी बलियापुर मौजूद नहीं है झरिया अंचलाधिकारी प्रभार में हैं इस कारण से अभी कोई ठोस निर्णय नहीं लिया जा सकता। अंचलाधिकारी की उपस्थिति में जमीन की मापी की जाएगी साथ ही।

यह भी पढ़े…Sexual Exploitation : शादी का झांसा देकर आठ साल तक प्रेमी ने प्रेमिका का करता रहा यौन शोषण , प्रेमिका ने कोर्ट कंप्लेंट दर्ज कराई…

दोनों पक्षों को जमीन के कागजात उपलब्ध कराने के लिए निर्देश दिए गए हैं। बैठक के दौरान दूसरे पक्ष द्वारा कोई भी कागजात प्रस्तुत नहीं किया गया। दूसरी ओर शिवरतन साव एवं काजू साव ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here