Unauthorized withdrawal : एक लाख अठारह हजार की अनाधिकृत निकासी से HM और बैंक मैनेजर पर उठ रही सवाल…

0
न्यूज़ सुने

Unauthorized withdrawal : एक लाख अठारह हजार की अनाधिकृत निकासी से HM और बैंक मैनेजर पर उठ रही सवाल…

NEWSTODAYJ : धनबाद जिले के बलियापुर : वैश्विक महामारी को लेकर एक ओर जहां संपूर्ण राष्ट्र भारत दहशत के आलम में जी रहा है वहीं अगर बात करें तो झारखंड प्रदेश के धनबाद जिला स्थित बलियापुर प्रखंड स्थित बोर्ड मध्य विद्यालय में कोरोना विस्फोट से कहीं ज्यादा गंभीर मामला सामने आ रहा है जो लाँकडाउन काल से संबंधित है। बताते चले कि एक लाख. अठारह हजार रु. से ज्यादा अनाधिकृत निकासी का मामला सामने नजर आया जो तूल पकड़ते नजर आ रहे हैं।

यह बजी पढ़े…MLA to the minister : अनाज कालाबजारी को लेकर , तीन विधायक खाद्य आपूर्ति मंत्री से मिलें…

लॉकडाउन के दौरान केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा जनधन खाते में लगाकर 3 महीने तक एवं गैस सिलेंडर के लिए पैसे खातो में दिया गया वहीं इसी दौरान झारखंड के स्कूलों में शिक्षा विभाग द्वारा छात्रों के खाते में भी रुपैया का समायोजन सरकार द्वारा दिया गया इसी निमित बलियापुर गोविंदपुर रोड स्थित बोर्ड मध्य विद्यालय बलियापुर में लगभग एक लाख 18 हजार माता समिति/प्रबंधन समिति के खाते में भेजा गया बताते चलें कि उक्त माता समिति के कार्य काल विगत 3 वर्ष पूर्व में ही समाप्त हो गया था इसी दौरान भूतपूर्व माता समिति की उपाध्यक्ष शहनाज खातून द्वारा उक्त राशि का निकासी 11 मई 2020 से लेकर अब तक कर ली जाए।

यह भी पढ़े…Government of Jharkhand : केंद्र की ओबीसी लिस्ट के लिए झारखंड सीएम ने भेजे 36 नाम, पहले से कई शामिल…

इस बाबत स्कूल प्रबंधक के सचिव प्रधानाध्यापक आदित्य नारायण उपाध्याय द्वारा बीते दिन खाता अपडेट के दौरान जानकारी मिली जिसकी सूचना ग्राम शिक्षा समिति एवं प्रबंधक समिति को जानकारी देने के बाद आज सोमवार को इसी बाबत आवश्यक बैठक रखी गई एवं निकासी के संबंधित अवलोकन किया गया मौके पर प्रधानाध्यापक आदित्य नारायण उपाध्याय ने पत्रकारों से मुखातिब होते हुए कहा कि विगत 3 वर्ष पूर्व में माता समिति एवं प्रबंधन समिति को भंग कर दिया गया था जिसकी जानकारी शिक्षा विभाग एवं संबंधित बैंक अधिकारी को दे दी गई थी।

यह भी पढ़े…Bokaro news वज्रपात से मकान सहित कई बिजली उपकरण क्षतिग्रस्त

बावजूद इसके शिक्षा विभाग द्वारा प्रबंधक समिति के खाते में ₹118000 की राशि हस्तांतरित कर दी गई इसमें बैंक शाखा प्रबंधक पूर्ण दोषी है साथ ही साथ पूर्व प्रबंधन समिति के उपाध्यक्ष द्वारा इतनी भारी रकम आने पर ना तो शिक्षा विभाग और ना ही बैंक अधिकारी को जानकारी दिए बगैर मई महीने से अब तक 26 बार निकासी की गई इसके लिए बैंक शाखा प्रबंधक एवं तत्कालीन समिति उपाध्यक्ष शहनाज खातून जिम्मेवार है बरहाल अब देखना यह है कि कानून के नुमाइंदे इस मामले को किस रूप में देखते हैं और अग्रतर कार्रवाई क्या होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here