• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Ukraine Russia conflict:तुर्की के राष्ट्रपति ने पुतिन से कि बात,युद्ध पर विराम लगाने का किया आवाहन

1 min read

 

NEWSTODAYJ_इस्तांबुल: रूस और यूक्रेन के बीच चल रही जंग को रोकने के लिए तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगन (Turkish President Recep Tayyip Erdogans) ने रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) से टेलीफोन पर बात की.

 

 

इस दौरान एर्दोगन ने पुतिन से यूक्रेन में तत्काल संघर्ष विराम का आह्वान किया. इस बारे में राष्ट्रपति एर्दोगन कार्यालय ने कहा कि राष्ट्रपति ने दोनों देशों के बीच 11वें दिन चल रहे युद्ध को रोकने का अनुरोध करते हुए तुर्की ने मानवीय चिंताओं को दूर करने और संघर्ष के राजनीतिक समाधान तलाशने की बात कही. तुर्की राष्ट्रपति ने रूस और यूक्रेन के बीच शांति समझौते का आह्वान किया.

 

बता दें कि तुर्की के रूस और यूक्रेन के साथ व्यापक संबंध हैं. इसको देखते हुए उसने मध्यस्थता करने की पेशकश के साथ ही दोनों देशों को अगले सप्ताह एक मंच पर आने के आमंत्रित किया है.

 

वहीं तुर्की ने पुतिन से कहा है कि वह संकट को हल करने के लिए हर योगदान देने के लिए तैयार है.मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगन से बातचीत के दौरान पुतिन ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि स्पेशल ऑपरेशन योजना के मुताबिक जारी रहेगी. बातचीत के हवाले से दावा किया गया है कि अगर यूक्रेन लड़ाई बंद कर दे और उनकी (रूस) मांगें मान ले.फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से बोले पुतिन, यूक्रेन के परमाणु संयंत्रों पर हमला करना नहीं चाहता रूस

 

वहीं पेरिस में फ्रांस के राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों (French President Emmanuel Macron) के बीच रविवार को हुई बातचीत का मुख्य केंद्र बिंदु यूक्रेन के परमाणु संयंत्रों की सुरक्षा था.

 

फ्रांसीसी राष्ट्रपति के सरकारी आवास ‘एलीसी’ ने कहा कि मैक्रों के आग्रह पर पुतिन को कॉल किया गया था और दोनों नेताओं के बीच करीब दो घंटे तक बातचीत हुई. फ्रांस के एक अधिकारी ने कहा कि मैक्रों ने चेर्नोबिल और अन्य परमाणु संयंत्रों में अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के सुरक्षा मानकों पर अमल सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर जोर दिया. मैक्रों ने पुतिन से कहा कि इन संयंत्रों को रूसी हमले में निशाना न बनाया जाए.

 

 

अधिकारी के अनुसार, पुतिन ने कहा कि उनका इरादा परमाणु संयंत्रों पर हमला करना नहीं है और वह इस मसले पर आईएईए, यूक्रेन और रूस के बीच ‘बातचीत’ के सिद्धांत पर सहमत हैं. उसने कहा कि आने वाले दिनों में महत्वपूर्ण बातचीत होनी है.

यह भी पढ़े…..Ukraine russia conflict:रूस-यूक्रेन युद्ध को रोकने के लिए दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच दूसरे दौर की वार्ता जारी

 

मैक्रों ने रूस से अपने सैन्य अभियान रोकने की एक बार फिर अपील की और नागरिकों के संरक्षण तथा मानवीय सहायता तक उनकी पहुंच की अनुमति देने की आवश्यकता पर बल दिया. अधिकारी ने जोर देकर कहा, ‘मारियुपोल सहित विभिन्न स्थानों पर रविवार को (मानवीय) स्थिति बहुत कठिन रही.’ उन्होंने कहा, ‘हमारी मांग फिर से वही है: हम चाहते हैं कि रूस इन मांगों पर त्वरित और स्पष्ट रूप से अपनी प्रतिक्रिया दे.’

 

यूक्रेन संकट: इजराइली प्रधानमंत्री ने कूटनीतिक प्रयास जारी रखने की बात कही

दूसरी ओर तेल अवीव में इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट (Israel Pm Naftali Bennett) ने कहा है कि उनका देश यूक्रेन संकट का कूटनीतिक समाधान तलाशने में सहायता जारी रखेगा, भले ही उसके इस प्रयास के सफल होने की संभावना बहुत कम हो.

 

 

बेनेट ने अपने मंत्रिमंडल की बैठक में रविवार को यह टिप्पणी की. उन्होंने मास्को में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ एक औचक बैठक से लौटने के कुछ घंटे बाद मंत्रिमंडल की बैठक की.

 

उन्होंने यूक्रेन के साथ रूस के युद्ध पर पुतिन के साथ चर्चा की. बेनेट ने पुतिन के साथ अपनी वार्ता के बारे में विस्तार से कुछ नहीं कहा, लेकिन इजराइल की मध्यस्थता के प्रयासों को ‘अपना नैतिक कर्तव्य’ बताया. इससे पहले बेनेट के कार्यालय ने कहा था कि उन्होंने और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रविवार को टेलीफोन पर वार्ता की. दोनों नेताओं के बीच पिछले कुछ दिनों में इस तरह की यह तीसरी वार्ता थी. बेनेट ने मंत्रिमंडल से यह भी कहा कि इजराइल को यूक्रेन से यहूदियों के बड़ी तादाद में आव्रजन के लिए तैयार रहना चाहिए. इजराइल उन गिने-चुने देशों में शामिल है जिसके रूस और यूक्रेन, दोनों के साथ अच्छे संबंध हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.