Suicide : डीएवी स्कूल के छात्र का घर में लटका मिला शव , जांच में जुटी पुलिस…

1 min read

Suicide : डीएवी स्कूल के छात्र का घर में लटका मिला शव , जांच में जुटी पुलिस…

NEWSTODAYJ : धनबाद जिले के सिजुआ टाटा सिजुआ एक नंबर में टाटाकर्मी रतन राम के 17 वर्षीय पुत्र सूरज कुमार का शव उसके घर में रहस्यमय परिस्थिति में मिला। घटना शनिवार की सुबह की है। उसके पिता के मुताबिक सूरज का शव लोहे के एंगल से रस्सी के सहारे लटका था।

यह भी पढ़े…Vaccination : 5 गर्भवती और 17 बच्चों को किया गया टिकाकरण…

जिदा होने की आशा लेकर सूरज को फीडर अस्पताल भेलाटांड़ ले जाया गया, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूरज टाटा डीएवी स्कूल सिजुआ के 12 वीं कक्षा का छात्र था। सूचना पाकर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और पोस्टमार्टम के लिए शव भेज दिया। मौत के कारणों का स्पष्ट पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने मृतक के पिता के आवेदन पर यूडी कांड अंकित किया है। पिता ने बताया कि टाटा सिजुआ एक नंबर में उसके दो क्वार्टर है।

यह भी पढ़े…Viral Video : रॉड पकड़ के 360 डिग्री घूम गए डीएसपी अमरनाथ पुलिस ने ट्विटर पर शेयर किया वीडियो।…

एक में परिजन रहते हैं जबकि दूसरे क्वार्टर का उपयोग नहाने धोने के लिए किया जाता है। सूरज अन्य दिनों की भांति आज भी सुबह दौड़कर घर लौटा। दूसरे क्वार्टर की चाभी लेकर वह चला गया। काफी देर तक नहीं लौटने पर छोटी बेटी को भेजा लेकिन उसने मुख्य दरवाजा नहीं खोला। उसके मोबाइल पर भी फोन किया लेकिन जवाब नहीं दिया। इसके बाद दरवाजे की दीवार फांदकर अंदर गया तो कमरे का दृश्य देखकर होश उड़ गए।दो माह पहले मांगी थी बाइक: सूरज के पिता रतन राम ने बताया कि दो माह पहले उसने बाइक खरीदकर देने की इच्छा जाहिर की थी।

यह भी पढ़े…Criminal arrested :अस्पताल के वाइस प्रेसिडेंट की लूटी गयी होंडा सिटी कार बरामद, हथियार के साथ दो गिरफ्तार…

बालिग होने के बाद नई बाइक खरीदकर देने का वादा किया था।मां-बेटी का रो-रोकर बुरा हाल: अस्पताल में मृत घोषित किए जाने के बाद परिजन सूरज का शव घर ले आए। इसके बाद पुलिस को घटना की सूचना दी गई। शव के पास पुलिस कागजी प्रक्रिया पूरी करने में लगी थी। इस दौरान शव देखकर बहन व मां दहाड़ मारकर रोने लगी। दोनों के करुण क्रंदन से हर किसी की आंखें नम हो गई। पड़ोसी महिलाएं दोनों को ढांढस बंधाने में लगी थी। सूरज के पिता गुमशुम बैठे थे। जब शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाने लगा तो मां और बहन लिपटकर रोने लगी। किसी तरह दोनों को शव से अलग कर घर के अंदर ले जाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.