Snakebite died of snakebite : माँ मनसा पूजा के दिन ही सर्पदंश से सपेरे की मौत , लगातार तीन बार दंश मार दिया सांप , अंध विश्वास में पड़े लोग…

0
न्यूज़ सुने

Snakebite died of snakebite : माँ मनसा पूजा के दिन ही सर्पदंश से सपेरे की मौत , लगातार तीन बार दंश मार दिया सांप , अंध विश्वास में पड़े लोग…

  • टेकलाल रात्रि को लोगों द्वारा घर के सामने जात-मंगला के आयोजन में कोबरा सांप को अपने हुड़पी से निकालकर झापांग कराने का कोशिश कर रहा था।
  • चिकित्सकों ने गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे सदर रेफर कर दिया। कसमार अस्पताल से कुछ ही दूरी पोंडा के आसपास जाने के बाद साथ में जा रहे।

NEWSTODAYJ : बोकारो जिले के कसमार थाना क्षेत्र बगदा गांव में रविवार को देर रात सर्पदंश से एक सपेरे टेकलाल डोम(58 वर्षीय) की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार टेकलाल रात्रि को लोगों द्वारा घर के सामने जात-मंगला के आयोजन में कोबरा सांप को अपने हुड़पी से निकालकर झापांग कराने का कोशिश कर रहा था।

यह भी पढ़े…Politics news : सरकार के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख आज देवघर कांग्रेस कार्यालय पहुंचे…

इस दौरान सर्प को जैसे ही हुडपी (टोकरी) से निकाल रहा इसी बीच सर्प ने बाएं हाथ में लगातार तीन बार दंश मार दिया। इसके बाद सपेरा टेकलाल ने स्वयं झाड़-फूंक करने लगा और सर्पदंश के स्थान पर अपने मुंह से खून चूस कर निकालने लगा। जिससे विषाक्त खून अंदर चला और तबीयत ज्यादा बिगड़ गयी।

यह भी पढ़े…Crime : डायन बिसाही का आरोप लगाकर महिला की पीट-पीट कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस…

स्थानीय ग्रामीणों की मदद से सुबह 3 बजे स्वास्थ्य केंद्र कसमार ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे सदर रेफर कर दिया। कसमार अस्पताल से कुछ ही दूरी पोंडा के आसपास जाने के बाद साथ में जा रहे परिजनों को अनुभव हूआ कि टेकलाल की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़े…Gambling in the woods : जंगल में टेंट लगाकर चलाया जा रहा था जुआ अड्डा, छापेमारी में 5 गिरफ्तार…

तब सदर अस्पताल न जाकर बगदा अपना घर ले आया। सुबह 9 बजे के आसपास 108 एंबुलेंस बुलाकर पुनः स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया है‌।

यह भी पढ़े…Crime : दरवाजा तोड़कर घर में दाखिल चोरो ने चार लाख रुपये की जेवरात चोरी कर फरार , जांच में जुटी पुलिस…

बताया जाता है कि सपेरा टेकलाल ने को दो माह पूर्व ही गांव के निकट तेतरियाटांड़ से उक्त कोबरा को पकड़ कर घर लाया था। वाह टेकलाल आस-पास के गांव में कहीं भी किसी के घर में सर्प घुसने पर निकालने का काम करता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here