Sawan Somvar 2020 : रक्षाबंधन और अंतिम सोमवारी में भोले बाबा के मंदिरों में श्रद्धालुओं पूजा करने पहुंचे…

Sawan Somvar 2020 : रक्षाबंधन और अंतिम सोमवारी में भोले बाबा के मंदिरों में श्रद्धालुओं पूजा करने पहुंचे…

  • देवघर बाबा नगरी में श्रद्धालु अच्छी खासी संख्या में मंदिरों में पहुंचे।
  • 3 अगस्त 2020 को सावन का पांचवा यानी अंतिम सोमवार है।

NEWSTODAYJ धनबाद / देवघर : 2020 के सावन की शुरूआत सोमवार के साथ हुई थी। 3 अगस्त 2020 को सावन का पांचवा यानी अंतिम सोमवार है। पहले के सभी सोमवार की तरह इस सोमवार भी श्रद्धालु भोले की पूजा को मंदिरों में पहुंच रहे हैं।

यह भी पढ़े…Raksha Bandhan2020 : पूरा देश में आज रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जा रहा है , राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने दी बधाई…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

हालांकि, इस बार समझा जा रहा था कि कोरोना महामारी के कारण लोग मंदिरों में कम ही जाएंगे, लेकिन श्रद्धालु अच्छी खासी संख्या में मंदिरों में पहुंचे। बता दें कि शिव को प्रिय श्रावण मास इस बार 300 साल बाद दुर्लभ संयोग में आया था।

यह भी पढ़े…Suicide in a love affair : फाँसी लगाने से पहले युवक ने बनाया विडियो कहा “जिंदगी में किसी से भी प्यार मत करना” देखें विडियो…

सोमवार (6 जुलाई) के दिन उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में शुरू हुए श्रावण का समापन तीन अगस्त को रक्षाबंधन पर सोमवार के दिन उत्तराषाढ़ा नक्षत्र की साक्षी में ही होगा। एक माह में पांच सोमवार, दो शनि प्रदोष और हरियाली सोमवती अमावस्या का आना अपने आप में अद्वितीय है। ज्योतिषियों के अनुसार श्रावण मास में ग्रह, नक्षत्र व तिथियों का ऐसा विशिष्ट संयोग बीती तीन सदी में नहीं बना है।

यह भी पढ़े…Coronavirus : आजसू विधायक लंबोदर महतो कोरोना पोजेटिव , कार्यकर्ताओं में हड़कम..

इस अवसर पर पहले के सभी सोमवार की भांति अंतिम सोमवार भी जलाभिषेक और दर्शन-पूजन के लिए काफी संख्या में श्रद्धालु शिवमंदिरों पर जुट रहे हैं। श्रद्धालु बाबा का आर्शिवाद प्राप्त कर रहे हैं और इस दौरान क्या सुरक्षा के इंतजाम हैं? वहीं,देवघर बाबा नगरी के मंदिर में ‘भस्म आरती’ भी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here