Sarkari Yojana:बेटियों के हितों का ख्याल करने वाली पांच सरकारी योजनाओं के बारे में जाने:पढ़ाई से लेकर शादी तक नहीं रहेगी टेंशन

Sarkari Yojana : सरकार की ओर से शुरू की गई ये पांच योजनाएं, लड़कियों के शिक्षा से लेकर शादी तक के लिए आर्थिक मदद उपलब्ध कराती हैं.

देश की बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से कई सरकारी योजनाएं(sarkari yojana)चलाई जा रही है. ये योजनाएं देश की लड़कियों के सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा का विशेष ध्यान रखती हैं. इन सभी योजनाओं में अलग-अलग लाभ दिये जाते हैं, जिसके तहत लड़कियों के पढ़ाई से लेकर शादी (Marriage) तक शामिल है. इसमें अभिभावकों को ज्यादा आर्थिक तंगी (Financial Problem) का सामना नहीं करना पड़ता है. अभिभावक इन सरकारी योजनाओं में निवेश करके अपनी बेटियों के भविष्य को बेहतर बना सकते हैं. इससे वह बेटी की पढ़ाई से लेकर शादी तक आसानी बिना किसी परेशानी के टेंशन मुक्त टेंशन फ्री रहेंगे

 

 

बता दें कि यहां बेटियों के हितों का ख्याल करने वाली पांच सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई है, जिसमें एक निश्चित आय का निवेश कर बिटिया के पढ़ाई से लेकर शादी तक का खर्च वहन किया जा सकता है. इन योजना के तहत सरकार की ओर से भी आर्थिक मदद की जाती है. जिससे आपको आर्थिक परेशानियों का ज्यादा सामना नहीं करना पड़ेगा. यहां आपको 5 सरकारी योजनाओं के बारे में बताया जा रहा है. जिसमें निवेश करके अपनी बेटियों के भविष्य को बेहतर बनाया जा सकता है.

 

,

(सुकन्या समृद्धि योजना)

सुकन्या समृद्धि योजना को स्माल सेविंग स्कीम के तहत रखा गया है. सुकन्या समृद्धि योजना में बेटी के जन्म से लेकर 10 साल तक निवेश माता-पिता की ओर से निवेश किया जाता है. सरकार इस योजना पर अभी 7.6 फीसदी रिटर्न दे रहा है और इसमें सालाना कम से कम 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक का निवेश किया जा सकता है. जन्म से लेकर 18 साल तक इस योजना में निवेश किया जा सकता है और बिटिया के शादी तक मोटा पैसा जमा किया जा सकता है.

 

 

(बालिका समृद्धि योजना)

यह सुकन्या समृद्धि स्कीम से मिलती-जुलती योजना है, जो लड़कियों के जन्म के बाद 500 रुपये की अनुदान राशि देती है. इस योजना के तहत डाकघर या बैंक में खाता खुलवाया जा सकता है. इसमें निवेश पर सरकार की ओर से सालाना ब्याज दिया जाता है, जिसे लड़की की आयु 18 वर्ष होने पर ही निकाला जा सकता है.

 

(सीबीएससी उड़ान स्कीम)

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत सीबीएससी उड़ान योजना की शुरुआत की गई थी. यह योजना लड़कियों के लिए ऑफलाइन और ऑनलाइन पढ़ाई की सुविधा प्रोवाइड कराती है. साथ ही उनको स्टडी मैटेरियल के साथ प्री लोडेट टैबलेट भी दिया जाता है, ताकि वे अपने इंजिनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी पूरी कर सकें.

 

(मुख्यमंत्री लाडली योजना)

झारखण्ड राज्य की ओर से मुख्यमंत्री लाडली योजना को शुरू किया गया है. इस योजना के तहत बेटी के नाम डाकघर बचत खाते में पांच साल के लिए 6000 रुपए की राशि जमा की जाती है.

(माजी कन्या भाग्यश्री योजना)

महाराष्ट्र सरकार की ओर से चलाई जा रही इस योजना के तहत लाभार्थी लड़की और उसकी मां के नाम पर नेशनल बैंक में जॉइंट अकाउंट खोला जाता है और दोनों को इसके तहत एक लाख रुपए का दुर्घटना बीमा और 5000 रुपये का ओवर ड्राफ्ट दिया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *