RBI Monetory Policy : RBI का दस महत्वपूर्ण पॉइंट्स बातें रेपो रेट एवं कटौती के बारे में जानें…

0
[URIS id=45547]
न्यूज़ सुने

RBI Monetory Policy : RBI का दस महत्वपूर्ण पॉइंट्स बातें रेपो रेट एवं कटौती के बारे में जानें…

  • इस साल अबतक दरों में 115 बेसिस प्वॉइंट की कटौती हो चुकी है।रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी और कैश रिजर्व रेश्यो को 3 फीसदी पर बरकरार रखा गया है।
  • RBI ने आम आदमी को बड़ी राहत देते हुए गोल्ड ज्वेलरी पर कर्ज की वैल्यू को बढ़ा दिया है. अब 90 फीसदी तक कर्ज मिल सकेगा।

NEWSTODAYJ : नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति ने ब्याज दरों पर फैसला सुना दिया है।आपको बता दें कि फरवरी 2020 से अबतक RBI ने रेपो रेट में 1.15 फीसद की कटौती की है।दस महत्वपूर्ण पॉइंट्स में जानिए RBI की इस बड़ी मीटिंग में क्या हुए हैं बड़े ऐलान।

यह भी पढ़े…Twitt PM : अस्पताल हादसे पर PM MODI ने जताया दुख, मृतकों के परिजनों के लिए 2-2 लाख की मदद का ऐलान…

  1. MPC की मीटिंग की बड़ी बातें
  2. RBI ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है।रेपो रेट 4% पर बरकरार है।MPC ने सर्वसम्मति से ये फैसला किया है।रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी पर बरकरार है।MSF, बैंक रेट 4.25% पर बरकरार है।
  3. इस साल जून में एनुअल इनफ्लेशन रेट मार्च के 5.84 फीसदी के मुकाबले बढ़कर 6.09 फीसदी हो गयी। यह RBI के मीडियम टर्म टारगेट से ज्यादा है।RBI का यह टारगेट 2-6 फीसदी है।
  4. दास ने कहा कि जुलाई में कई प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में कोविड-19 के मामलों में तेजी आने से अर्थव्यवस्था में रिकवरी की उम्मीदों को झटका लगा है।
  5. आरबीआई गवर्नर ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में वास्तविक जीडीपी वृद्धि दर नकारात्मक अंक में रहने का अनुमान है। हालांकि, कोविड-19 को लेकर किसी भी तरह की सकारात्मक खबर से परिदृश्य बदल जाएगा।
  6. दास ने सिस्टम में अतिरिक्त 10,000 करोड़ रुपये डालने की घोषणा की है।
  7. अतिरिक्त लिक्विडिटी नाबार्ड और नेशनल हाउसिंग बैंक को उपलब्ध करायी जाएगी। इससे एनबीएफसी और हाउसिंग सेक्टर को मौजूदा संकट से निकलने में मदद मिलेगी।
  8. दास ने कहा कि प्राथमकिता वाले क्षेत्र को लेंडिंग से जुड़े दिशा-निर्देशों की समीक्षा की गई है।उन्होंने कहा कि बैंकों के लिए जल्द ही एक प्रोत्साहन योजना लाई जाएगी।
  9. RBI ने आम आदमी को बड़ी राहत देते हुए गोल्ड ज्वेलरी पर कर्ज की वैल्यू को बढ़ा दिया है। अब 90 फीसदी तक कर्ज मिल सकेगा।अभी तक सोने की कुल वैल्यू का 75% ही लोन मिलता है।
  10. आप जिस बैंक या नॉन-बैकिंग फाइनेंस कंपनी में गोल्ड लोन का आवेदन करते हैं, वह पहले आपके सोने की गुणवत्ता की जांच करते हैं.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here