RAFALE IN INDIA : फ्रांस से राफेल लेकर आ रहे पूर्व छात्र रोहित , खुशी का लहर दौड़ा सैनिक स्कूल तिलैया में…

0
न्यूज़ सुने

RAFALE IN INDIA : फ्रांस से राफेल लेकर आ रहे पूर्व छात्र रोहित , खुशी का लहर दौड़ा सैनिक स्कूल तिलैया में…

  • फ्रांस से 7000 किमी की दूरी तय कर पांच विमानों का दल बुधवार की सुबह अपने वतन पहुंचेगा।
  • यहां का छात्र उस पहले दस्ते में शामिल है जिसे सबसे अत्याधुनिक लड़ाकू विमान को उड़ाने का जिम्मा सौंपा गया है।

NEWSTODAYJ : कोडरमा स्थित सैनिक स्कूल तिलैया के प्रशासी अधिकारियों, शिक्षकों, छात्रों और पूर्व छात्रों में हर्ष का माहौल है। यहां के पूर्व छात्र रोहित कटारिया देश के उन चुनिंदा पायलटों में एक हैं जो फ्रांस से अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल लेकर भारत आ रहे हैं। फ्रांस से 7000 किमी की दूरी तय कर पांच विमानों का दल बुधवार की सुबह अपने वतन पहुंचेगा।

यह भी पढ़े…CORONA UPDATE : झारखंड राज्य के जिले में कोरोना ब्लास्ट 802 नए मामले मिले,जाने कौन कौन जिले में कोरोना का कहर रहा…

सैनिक स्कूल के कैडेटों का सपना भारतीय सेना का अधिकारी बनने का होता है। कैडेटों को इसी के लिए तैयार भी किया जाता है। रोहित की उपलब्धि ने इन कैडेटों को रोमांचित कर दिया है और उनके सपनों को भी पंख लगने लगे हैं। सोशल मीडिया पर यहां के छात्रों ने खुशी जाहिर करते हुए इसे गौरव का पल बताया है।

यह भी पढ़े…BCCL की लापरवाही दूषित पानी पीने से एक दर्जन बच्चे बीमार , महिला ने जमकर किया हंगामा…

स्कूल के रजिस्ट्रार ले. कमांडर हिमांशु शेखर ने बताया कि स्कूल के लोगों को यह सूचना सोशल मीडिया के माध्यम से मिली है। निश्चित रूप से यह स्कूल के लिए गौरव की बात है कि यहां का छात्र उस पहले दस्ते में शामिल है जिसे सबसे अत्याधुनिक लड़ाकू विमान को उड़ाने का जिम्मा सौंपा गया है।

यह भी पढ़े…Corona update :  कोविड-19 से संक्रमण मुक्त होने पर 07 लोगों को किया गया डिस्चार्ज, 79 कोरोना संक्रमित की हुई पहचान…

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित सैनिक स्कूल तिलैया के शिक्षक धनंजय कुमार ने कहा कि रोहित शुरू से ही मेधावी था। उसने अपने स्कूल का नाम रोशन किया है। धनंजय स्कूल में भौतिकी के शिक्षक हैं।रोहित सैनिक स्कूल तिलैया से सन 1992 में पासआउट हुए थे। इनके पिता कर्नल सतबीर कटारिया तब सैनिक स्कूल तिलैया में ही प्राचार्य के पद पर थे। रोहित का परिवार मूल रूप से हरियाणा का रहने वाला है।

यह भी पढ़े…NO ENTRY : धनबाद में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद आठ कंटेनमेंट जोन का किया गया निर्माण : उपायुक्त…

रोहित कटारिया की इस उपलब्धि पर स्कूल के पूर्व छात्र व इनके सहपाठी ग्रेटर नोएडा में आइटी कंपनी चलाने वाले रवि रंजन ने खुशी जताते हुए कहा कि यह हम सभी एक्स. तिलैयंस के लिए यह गौरव का क्षण है। देश के विभिन्न ऑपरेशनों में यहां के दर्जनों पूर्व छात्रों ने अपने प्राणों की आहूति दी है,

Newstodayjharkhand
राफेल के बारे में जानकारी

जिनके नाम स्कूल के शहीद स्मारक में अंकित हैं। स्कूल के सैकड़ों पूर्व छात्र भारतीय सेना के उच्च पदों पर उत्कृष्ट सेवा दे रहे हैं और दर्जनों सेवानिवृत्त हो चुके हैं। अब राफेल के इतिहास से भी स्कूल का नाम जुड़ गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here