Protest : पुलिसकर्मियों का आंदोलन तेज , पैदल मार्च कर रांची पहुच रहे , अलग – अलग जिले से , महंगाई में 10 हजार रुपए में घर चलना मुश्किल…

0
[URIS id=45547]
न्यूज़ सुने

Protest : पुलिसकर्मियों का आंदोलन तेज , पैदल मार्च कर रांची पहुच रहे , अलग – अलग जिले से , महंगाई में 10 हजार रुपए में घर चलना मुश्किल…

NEWSTODAYJ रांची : झारखंड के सहायक पुलिसकर्मियों का आंदोलन तेज हो गया है।आंदोलनरत पुलिसकर्मी सड़क पर उतर गये हैं।इन्होंने अलग-अलग जिलों से राजधानी रांची तक मार्च शुरू किया है।बोकारो जिला से रांची के लिए पुलिसकर्मी सड़क मार्ग से पैदल मार्च कर रहे हैं।आंदोलन के तहत सहायक पुलिसकर्मी सड़क मार्ग से रांची रवाना हो गये हैं।

यह भी पढ़े…Teacher salary payment : 183 मदरसा शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मियों के लंबित वेतन भुगतान का रास्ता साफ…

बोकारो पुलिस लाइन से 86 महिला एवं पुरुष पुलिसकर्मी सड़क मार्ग से रांची जा रहे हैं। रांची मार्च के दौरान एक नजारा यह भी देखने को मिला कि महिला पुलिसकर्मी अपनी गोद में बच्चे को लेकर पैदल रांची चली जा रही हैं।उल्लेखनीय है कि सहायक पुलिसकर्मियों का अगला कार्यक्रम रांची में राजभवन और मुख्यमंत्री आवास घेराव का है।

यह भी पढ़े…Finance Minister : केंद्र सरकार ने हिस्से-बंटवारे के बाद , मासिक किस्त के रूप में 14 राज्यों को 6,195 करोड़ दी , ट्वीट कर दी जानकारी…

पुलिसकर्मियों का कहना है कि जब बहाली 3 वर्ष पूर्व हुई थी, तो इन लोगों को आश्वासन दिया गया था कि उन्हें पुलिस बहाली में प्राथमिकता दी जायेगी।इतने दिन बीत जाने के बाद भी उन्हें प्राथमिकता के आधार पर अब तक बहाल नहीं किया गया।इनकी मांग है कि उन्हें समान काम का समान वेतन दिया जाये।इन्होंने कहा कि जिस प्रकार से गृह, कारा एवं आपदा विभाग के द्वारा बहाली के वक्त यह आश्वासन दिया था कि पुलिस बहाली में सभी सहायक पुलिस कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर बहाली की जायेगी।

यह भी पढ़े…Kangana Ranaut : सोनिया गांधी को कंगना रनौत ने किया ट्वीट, पूछे ये बड़े सवाल , कंगना रनौत आर-पार की लड़ाई के मूड में दिख रही…

लेकिन इस वादे को विभाग पूरा नहीं कर रहा है।यही कारण है कि सभी सहायक पुलिसकर्मी आंदोलनरत हैं।पैदल मार्च करते हुए रांची के लिए निकल पड़े हैं। कर्मियों का कहना है कि हमें समान काम का समान वेतन मिलना चाहिए।महंगाई के इस दौर में सिर्फ 10 हजार रुपये प्रति माह मिलने वाले वेतन से गुजारा नहीं हो रहा।इसलिए आंदोलन जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here