Pension dispute : पेंशन को लेकर मुखिया ने महिला को मार डाला, दो साल से जारी है जिंदा होने की जद्दोजहद , महिला थाना पहुच कर बोली “साहब हम जिंदा है”…

1 min read

Pension dispute : पेंशन को लेकर मुखिया ने महिला को मार डाला, दो साल से जारी है जिंदा होने की जद्दोजहद , महिला थाना पहुच कर बोली “साहब हम जिंदा है”…

NEWSTODAYJ : देवघर जिले के मधुपुर थाने में उस समय पुलिस के लिए असमंजस की स्थिति उत्पन्न हो गई जब एक महिला ये कहते हुए थाने पहुंची कि साहब, मैं जिंदा हूं, मरी नहीं। मधुपुर के साप्तर गांव निवासी अंझोवा देवी ने अपने आवेदन में कहा है कि उसे काफी पहले वृद्धा पेंशन की स्वीकृति मिली थी। वह पेंशन उठा भी रही थी। बाद में अचानक उसका पेंशन बंद हो गया।

यह भी पढ़े…Criminal arrested : साइबर सेल की मदद से सात साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी , अपडेट कराने के नाम पर झांसा देकर वारदात का देता था अंजाम…


अंचल कार्यालय पहुंचा तो पता चला कि साप्तर पंचायत की मुखिया शोभा देवी ने अपने लेटर पैड पर लिखकर दिया है कि वह मर चुकी है। इसके बाद मेरा पेंशन बंद कर दिया गया है।महिला आरोप है कि मुखिया ने उससे एक हजार रुपया रिश्वत की मांग की थी उसे जब रुपये देने से इंकार कर दिया तो उसने उसे जीते-जी मार डाला। इस कारण उसका पेंशन बंद कर दिया गया।

यह भी पढ़े…Child Welfare Committee : बढ़ते नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म की घटना की वारदातों की जानकारी देते राज्यपाल को…

महिला ने इसकी शिकायत अनुमंडल पदाधिकारी, सीओ, एसडीपीओ से भी की है। दो साल अंझोवा देवी जिंदा होने के लिए जद्दोजहद कर रही है। लेकिन फाइलों में अब तक जिंदा नहीं हो पाई है। वह जिंदा होना चाहती है। जिंदा होने पर ही फिर से पेंशन राशि मिलेगी।

यह भी पढ़े…Crime : मोटरसाइकिल चोर गिरोह के चार सदस्य गिरफ्तार, तीन बाइक बरामद…

सरकारी कार्यालयों को दौड़ लगाते-लगाते थक चुकी अंझोवा देवी शनिवार की शाम देवघर जिले के मधुपुर थाना पहुंची। महिला की बातों को सुनकर पुलिस पदाधिकारी हैरान रह गए। सारे आरोप बेबुनियाद और तथ्य हीन हैं। एक नाम के दो लोग होने के कारण ये गलती हुई है। इसमें सुधार के लिए दो वर्ष पहले ही अंचलाधिकारी को पत्र भेज लिखा गया था कि अंझोवा देवी जिंदा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.