Negligence : कोरोना का भय भूल कर , मछली मारने के लिए उमड़ी लोगों की भीड…

0
न्यूज़ सुने

Negligence : कोरोना का भय भूल कर , मछली मारने के लिए उमड़ी लोगों की भीड…

NEWSTODAYJ : जामताड़ा में कई दिनों की लगातार हो रही बारिश से जामताड़ा जिले के चिरुडीह गांव में तालाब का मेढ़ टूट गया। इसकी खबर ग्रामीणों क्षेत्रों में आग की तरह फैल गई और कई गांव के लोग मछली पकड़ने के लिए तलाब में जुट गए। लोगों ने कोरोना को भूल लगभग 2 घंटे तक मछली मारा। इस दौरान ना तो करोना का डर किसी को था और ना सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखा।ग्रामीणों ने बताया कि चिरूडीह गांव का यह काफी पुराना तालाब हैं।

यह भी पढ़े…Battle for supremacy : वर्चस्व की लड़ाई में दो गुटों में भिड़ंत , चार घयाल , पुलिस की तैनाती की गई…

बारिश इतनी हुई कि तालाब लबालब भर गया और तालाब के भरने से मेढ़ पानी का दबाव सहन नहीं कर पाया जिसकी वजह से टूट गया।तालाब के टूटने से पानी के साथ मछलियां बहकर बाहर निकल आयी। वहीं तालाब के नीचे खेतों में लगे धान की फसल में बालू और मिट्टी भर गया। जिससे किसानों को भारी नुकसान पहुंचा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि तालाब टूटने से लाखों की क्षति हुई है।

यह भी पढ़े…Crime : धनबाद में अपराधियों की तांडव , बम बाजी , गोली बाजी आम बात, पुलिस लगाम लगाने में नाकाम…

ग्रामीण सीताराम चौबे ने बताया कि इस तालाब में लगभग 50 हजार के आसपास की मछलियां बह गई तथा इस वर्ष भी मछली का जीरा डाला गया था जो नुकसान हो गया। इसके अलावा तालाब में अगल बगल के लोग नहाने के लिए उपयोग करते हैं। अब लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here