MISBEHAVIOR : आम जनों की आवाज दबने नहीं दी जाएगी, अफसरों की हिटलर नीति बर्दास्त नहीं – जेएमएम जिला उपाध्यक्ष…

0
न्यूज़ सुने

MISBEHAVIOR : आम जनों की आवाज दबने नहीं दी जाएगी, अफसरों की हिटलर नीति बर्दास्त नहीं – जेएमएम जिला उपाध्यक्ष…

  • न्यूज़ टुडे झारखंड पर अनुमंडल पदाधिकारी छतरपुर द्वारा राशन कार्ड की जानकारी मांगने पर दुर्व्यवहार और गाली गलौज करने का न्यूज़ फ्लैश किया गया था।
  • अपने सेवाओं के लिए पुछे जाने पर अनुमंडल पदाधिकारी छतरपुर द्वारा दुर्व्यवहार और गाली गलौज करना पूर्णतः गलत एवं असंवैधानिक है।

NEWSTODAYJ पलामू : झारखंड मुक्ति मोर्चा पलामू के जिला उपाध्यक्ष चन्दन प्रकाश सिन्हा ने अनुमंडल पदाधिकारी छतरपुर द्वारा आम आदमी के साथ फोन पर किए गए दुर्व्यवहार एवं गाली गलौज का विरोध किया है।ज्ञात हो कि न्यूज़ टुडे झारखंड पर अनुमंडल पदाधिकारी छतरपुर द्वारा राशन कार्ड की जानकारी मांगने पर दुर्व्यवहार और गाली गलौज करने का न्यूज़ फ्लैश किया गया था।

यह भी पढ़े…SUICIDE : नव विवाहिता जोड़ी ने फांसी लगाकर आत्म हत्या कर लिया पुलिस जुटी जांच में…

श्री सिन्हा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा की भारत एक प्रजातांत्रिक देश है और आम जनता ही यहां के राजा हैं। नेता और पदाधिकारी उनके सेवक हैं यह सभी को याद रखना चाहिए। और एक आम नागरिक को अपने अधिकारों और सेवाओं से संबंधित जानकारी प्राप्त करने का पूर्ण अधिकार है।

यह भी पढ़े…MORNING WALK : अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस पर निकाली गई. प्रभात फेरी

अपने सेवाओं के लिए पुछे जाने पर अनुमंडल पदाधिकारी छतरपुर द्वारा दुर्व्यवहार और गाली गलौज करना पूर्णतः गलत एवं असंवैधानिक है। झारखंड मुक्ति मोर्चा ऐसे पदाधिकारी का विरोध करता है। छतरपुर में हिटलरशाही नहीं चलेगी। यहां की जनता इज्जत देना जानती है तो विरोध करना भी जानती है।यह नहीं भूलना चाहिए कि छतरपुर की इन्हीं जनताओं ने मंत्री तक को जूतों की माला पहना कर उनकी बेइज्जती की है। सभी पदाधिकारियों को यह याद रखना चाहिए कि अब झारखंड में झारखंड मुक्ति मोर्चा की सरकार है उनकी मनमानी नहीं चलेगी।

यह भी पढ़े…CORONA UPDATE- देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 15 लाख के पार-पिछले एक दिन में आए 48,513 नए संक्रमित मामले

रघुवर दास एवं भाजपा की झारखंड से विदाई हो चुकी है लेकिन कुछ पदाधिकारियों के दिमाग से अभी भी भाजपा का भूत नहीं उतरा है और अनुमंडल पदाधिकारी छतरपुर भी उन्हीं में से एक हैं। छतरपुर का विधि व्यवस्था पूर्णता चरमरा गई है एक भी सरकारी योजना धरातल पर पूर्णता नहीं उतर रही है। जमीन के सैकड़ों मामले लंबित हैं । ऐसे में अनुमंडल पदाधिकारी का यह कर्तव्य है कि सभी योजनाओं का अनुश्रवण करते हुए धरातल पर उतारने का कोशिश करें लेकिन दुर्भाग्य की बात यह है कि उन्होंने बिचौलियों दलालों एवं भ्रष्टाचारियों को प्रश्रय दिया हुआ है और उनके खिलाफ बोलने वाले आम जनताओं को डरा धमका चुप कराने की प्रवृत्ति अपनाए हुए हैं।

यह भी पढ़े…RAFALE IN INDIA : फ्रांस से राफेल लेकर आ रहे पूर्व छात्र रोहित , खुशी का लहर दौड़ा सैनिक स्कूल तिलैया में…

मामला यह नहीं है कि उस व्यक्ति का नाम संबंधित डीलर के यहां है कि नहीं। क्योंकि आज किसी भी व्यक्ति को किसी भी क्षेत्र से जानकारी लेने का अधिकार प्राप्त है ‌। झारखंड मुक्ति मोर्चा इन सब बातों को बर्दाश्त नहीं करेगा ।

यह भी पढ़े…CORONA UPDATE : झारखंड राज्य के जिले में कोरोना ब्लास्ट 802 नए मामले मिले,जाने कौन कौन जिले में कोरोना का कहर रहा…

बहुत जल्द इनकी शिकायत झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से की जाएगी और इन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की जाएगी। किसी भी हालत में आमजन के आवाज को दबने नहीं दिया जाएगा। झारखंड मुक्ति मोर्चा ऐसे पदाधिकारियों के खिलाफ उनके सामने चट्टान बनकर खड़ा रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here