Minority Scholarship Scam : झारखंड , बिहार और पंजाब में अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति घोटाले में CBI जांच का फैसला…

Minority Scholarship Scam : झारखंड , बिहार और पंजाब में अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति घोटाले में CBI जांच का फैसला…

NEWSTODAYJ : नई दिल्ली। पंजाब, झारखंड और बिहार के कुछ हिस्सों में छात्रवृत्ति और खासकर अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति में घोटाले की जानकारी को लेकर चौकन्नी केंद्र सरकार ने सीबीआइ से जांच का फैसला किया है। वहीं पंजाब और झारखंड में सीबीआइ को मनाही के बाद प्रवर्तन निदेशालय से जांच कराने पर भी विचार किया जा सकता है। पंजाब में छात्रवृत्ति घोटाले को लेकर पहले ही जानकारी आई थी जिसमें फर्जी नामों से और गैरमौजूद संस्थानों के नाम से भी पैसों का हेरफेर किया गया था।

यह भी पढ़े…Coronavirus : झारखंड राज्य में कोरोना वायरस के 340 नए मामले सामने आए…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

विवाद के बाद राज्य सरकार ने जांच भी बिठाई थी, लेकिन उसमें कोई बड़ी सूचना नहीं आई थी। वहीं पिछले एक सप्ताह में झारखंड और बिहार से यह सूचना आई कि बिचौलियों ने डीबीटी और पोर्टल में सेंध लगाकर घोटाला किया है। केंद्र सरकार ने इस बाबत झारखंड से अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के 26000 से ज्यादा आवेदन पर आशंका जताई थी।दरअसल, घोटालेबाजों ने फर्जी तरीके से पैसे निकाल लिए और वह छात्रों तक नहीं

यह भी पढ़े…PM Kisan Scheme : 6,000 रुपए की सरकारी मदद चाहिए तो यहां खुद ही करें रजिस्ट्रेशन…

पहुंचा। सूत्र बताते हैं केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय ने इसे सीबीआइ को सौंपने का फैसला लिया लेकिन परेशानी यह है कि झारखंड ने भी सीबीआइ को प्रदेश में जांच से रोक लगा दी थी। चूंकि इस छात्रवृत्ति के जरिए ही अल्पसंख्यक महिलाओं के ड्राप रेट में लगभग 70 फीसद की कमी आइ थी इसीलिए केंद्र किसी भी कीमत पर इसे दुरुस्त रखना चाहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here