LIVE POLITICAL : कांग्रेस का प्रदर्शन, यूपी और दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष हिरासत में , 60 कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया गया…

0
न्यूज़ सुने

LIVE POLITICAL : कांग्रेस का प्रदर्शन, यूपी और दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष हिरासत में , 60 कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया गया…

  • इसमें गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा और राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी भी शामिल हैं।
  • राजस्थान बसपा प्रमुख भगवान सिंह बाबा ने कहा कि विधायकों ने बसपा के टिकट पर चुनाव जीता है।

NEWSTOWDAYJ(एजेंसी) राजस्थान में जारी सियासी लड़ाई के बीच कांग्रेस आज सभी राज्यों में राजभवन के बाहर प्रदर्शन कर रही है। इस दौरान दिल्ली में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी की अगुवाई में प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया। समाचार एजेंसी पीटीआइ ने इसकी जानकारी दी। वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में राजभवन के बाहर प्रदर्शन के दौरान प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, पीएल पुनिया समेत कई कांग्रेसी नेताओं को हिरासत में ले लिया गया।

यह भी पढ़े…Breaking Corona Update : 27 जुलाई राज्य के 24 जिलों में रिकॉर्डतोड़ 587 संक्रमितों की पुष्टि…

इसके अलावा गुजरात में लगभग 60 कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को सोमवार को पुलिस ने हिरासत में लिया गया। इसमें गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा और राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी भी शामिल हैं। बता दें कि भाजपा के खिलाफ पार्टी यह प्रदर्शन राजस्थान में गहलोत सरकार को गिराने की कथित साजिश को लेकर कर रही है।

यह भी पढ़े…PROBLEM : खुली सरकारी दावों की पोल,गढ्ढों में तब्दील हुए राष्ट्रिय मार्ग , परेशान स्थानीय से राहगीर तक पढ़े पूरी रिपोर्ट…

कांग्रेस नेताओं ने राज्यपाल को लिखा पत्र कांग्रेस के सलमान खुर्शीद, अश्वनी कुमार और कपिल सिब्बल ने राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र को विधानसभा सत्र बुलाने के प्रस्ताव पर पत्र लिखा।

यह भी पढ़े…DEVOTION : सोम चन्द्रमा को कहते है और ऐसे में सोमवारी विशेष होता है आज चौथी सोमवारी पूरा पढ़े…

विधायकों को व्हिप जारी करने पर राजस्थान बसपा प्रमुख ने क्या कहा समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार राजस्थान बसपा प्रमुख भगवान सिंह बाबा ने कहा कि विधायकों ने बसपा के टिकट पर चुनाव जीता है। इसलिए उन्हें व्हिप जारी किया गया है। विधायक कांग्रेस की गतिविधियों में शामिल नहीं हो सकते या उनके लिए वोट नहीं कर सकते।

यह भी पढ़े…VIDEO CONFERENCING : आज उच्च प्रवाह क्षमता वाली COVID -19 परीक्षण सुविधाओं का शुभारंभ करेंगे प्रधानमंत्री…

बसपा प्रमुख ने काफी विचार-विमर्श के बाद यह फैसला किया है। हम उनके निर्देश पर काम कर रहे हैं। छह विधायकों ने बसपा के टिकट पर चुनाव जीता था। सीएम अशोक गहलोत ने इन सभी को कांग्रेस में मिला लिया। राजस्थान में ऐसा पहली बार नहीं हुआ। इससे पहले यह 2008 में भी हुआ था।

यह भी पढ़े…TROUBLE : NH-527B  पर चढ़ा बाढ़ का पानी , अगर पानी की रफ़्तार और बढ़ी तो जल्द ही यह सड़क बंद हो जाएगी…

राज्यपाल ने लौटाई विधानसभा सत्र बुलाने से संबंधित फाइल राजस्थान राजभवन ने विधानसभा सत्र बुलाने से संबंधित फाइल राज्य के संसदीय कार्य विभाग को वापस कर दी है। राजभवन ने राज्य सरकार से कुछ अतिरिक्त विवरण भी मांगी है। विधानसभा सत्र बुलाने को लेकर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। गौरतलब है कि गहलोत मंत्रिमंडल ने शनिवार को 31 जुलाई से विधानसभा का सत्र आहूत करने का नया प्रस्ताव राजभवन भेजा था।

यह भी पढ़े..MISDEED : नाबालिग से दुष्कर्म, पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो युवक को गिरफ्तार किया…

प्रस्ताव में राज्यपाल से आग्रह किया गया है कि सात दिन के नोटिस के साथ विधानसभा सत्र बुलाया जाए। कोरोना महामारी पर विशेष चर्चा और छह विधेयक पारित कराने को सत्र बुलाने का कारण बताया गया है। इसमें बहुमत साबित करने का जिक्र नहीं है।

यह भी पढ़े…CORONA TEST : राजद सुप्रीमो लालू यादव की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव…

बसपा विधायकों के विलय पर हाई कोर्ट आज करेगा सुनवाई बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के छह सदस्यीय विधायक दल के कांग्रेस में विलय को लेकर राजस्थान हाई कोर्ट में सोमवार को सुनवाई होगी। अब पता चला है कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी इस संबंध में दायर याचिका खारिज कर चुके हैं, लेकिन अभी तक किसी को जानकारी नहीं दी गई थी। बताया जा रहा है कि दस्तावेजों की कमी को आधार बनाकर उन्होंने इस माह के शुरुआत में यह याचिका खारिज की थी।

सितंबर, 2019 में बसपा के छह विधायक कांग्रेस में शामिल हुए थे

सितंबर, 2019 में बसपा के छह विधायक लाखन सिंह, जोगेंद्र अवाना, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, राजेंद्र गुढ़ा और संदीप कुमार कांग्रेस में शामिल हो गए थे। भाजपा विधायक मदन दिलावर ने अपने वकील आशीष शर्मा के माध्यम से विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष मार्च, 2020 में बसपा विधायकों के विलय के खिलाफ याचिका दायर की थी। दिलावर ने इस संबंध में दायर याचिका पर कार्रवाई नहीं होने को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। जिस पर सोमवार को हाई कोर्ट के जस्टिस महेन्द्र गोयल सुनवाई करेंगे।

व्हिप जारी करके बसपा ने कांग्रेस को दिया झटका

बसपा ने अपने विधायकों को व्हिप जारी करके कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। पार्टी ने अपने सभी छह विधायकों को व्हिप जारी करके कांग्रेस के विरोध में वोट देने को कहा है। इसकी एक प्रति राज्यपाल को भी सौंप दी है।समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार बसपा सुप्रीमो मायावती ने राज्य की मौजूदा स्थिति के बारे में एक प्रेस नोट जारी किया। उन्होंने कहा कि राज्य की मौजूदा स्थिति को देखते हुए राजस्थान में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here