Latehar News : बेतला नेशनल पार्क को दीदार को बेताब थे पर्यटक एक नवम्बर को खोला गया था पार्क फिर से अनिश्चित कालीन बन्द…

0
न्यूज़ सुने

Latehar News : बेतला नेशनल पार्क को दीदार को बेताब थे पर्यटक एक नवम्बर को खोला गया था पार्क फिर से अनिश्चित कालीन बन्द…

NEWSTODAYJ : लातेहार जिले बरवाडीह से महज 10 किलोमीटर दूर और पलामू से महज 20 किलोमीटर दूर बेतला नेशनल पार्क का कोरोना काल के बाद फिर से एक बार फिर से दीदार कर सकते थे वही देश एवं विदेशों में भी एक अलग पहचान बेतला नेशनल पार्क बना चुकी है ऐसे में कोरोना काल के समय से ही बेतला नेशनल पार्क पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था रविवार 1 नवंबर से पर्यटकों के लिए बेतला नेशनल पार्क और म्यूजियम खोल दिया गया था जिसके बाद पर्यटक बेतला नेशनल पार्क पहुचाने लगे थे.

यह भी पढ़े…Bokaro News : सड़क दुर्घटना में तीन महिला सहित चार लोग घायल, दो घायलों की स्थिति गंभीर…

जिसके बाद डिप्टी डायरेक्टर कुमार आशिष के आदेश के बाद फिर से अनिश्चित कालीन बन्द कर दिया गया है वही देश विदेश से आए पर्यटक बेतला नेशनल पार्क पलामू किला केचकी संगम और कोयल नदी कमलदह झील ,समेत अन्य पर्यटक स्थल का दीदार करने को बेताब हैं ऐसे में पलामू टाइगर रिजर्व क्षेत्र के डीएफओ कुमार आशीष के प्रयास के बाद ही संभव हो पाया था कि एक नवम्बर से बेतला नेशनल पार्क खोले जाने से यहां के आसपास के ग्रामीणों मे उत्साह और होटल संचालक वाहन मालिक समेत वन विभाग के कर्मियों में काफी खुशी का माहौल देखा जा रहा था आए दिन पर्यटक काफी निराश होकर लौट जा रहे थे इसी को ध्यान में रखते हुए एक नवंबर से खोल दिया गया था ताकि आने वाले पर्यटक मनोरम दृश्य और प्राकृतिक दृश्य का लुफ्त उठा सकें इस दौरान वन विभाग के द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए आवश्यक सावधानियां बरतते हुए सभी प्रकार के व्यवस्थाएं की जा चुकी थी लेकिन उसके बाउजूद भी पार्क को बंद कर दिया गया जो सबसे बड़ा सवाल खड़ा करता है.

यह भी पढ़े…Bokaro News : 35-बेरमो विधानसभा उपचुनाव का मतदान शांतिपूर्ण, स्वच्छ माहौल में संपन्न- जिला निर्वाचन पदाधिकारी…

वही बेतला रेंजर प्रेम प्रसाद ने बताया कि पर्यटकों के लिए सारी व्यवस्था की जा चुकी थी ताकि कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए सावधानी बरतते हुए किसी भी प्रकार के पर्यटकों को असुविधा ना हो इसकी सारी तैयारी वन विभाग के द्वारा की गई थी।लेकिन विभागीय लापरवाही एवं वन विभाग के पदाधिकारियों के बीच आपसी तालमेल न होने के कारण बेतला नेशनल पार्क अपने खुलने के एक दिन बाद यानी 2 नवम्बर को फिर से बंद हो गया।वही अधिकारी का मूड करता है तब पार्क खोलने की घोषणा मीडिया के समक्ष कर देते है जब मूड हुआ तो बंद करने की ।आखिर ये गोलमाल एवं गड़बड़ झाला स्थिति क्यो हुई है।जिसका दुष्प्रभाव पर्यटकों एवं स्थानीय बेरोजगार लोगो को झेलना पड़ रहा हैं।

1100 शुल्क देकर पर्यटक नेशनल पार्क का कर सकेंगे दीदार।

पर्यटकों के लिए सभी सुविधाएं को देखते हुए पर्यटकों के लिए कोई भी शुल्क विभाग के द्वारा बढ़ाया नही गया था पहले जितना शुल्क लिया जाता था इस बार भी उतना ही लिया जा रहा था।पार्क में बाइसन, हिरन-हाथियों की संख्या में वृद्धि होने की बात बेतला रेंजर प्रेम प्रसाद ने भी पुष्टि की थी जिसके बाद पर्यटक पार्क को दीदार करने को बेताब थे।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : एआईएसएम जर्नलिस्ट वैलफेयर ऐसोसिएशन के ग्रामीण जिलाध्यक्ष जयप्रकाश वर्मा मनोनित…

वन्य जीवों की संख्या में बढ़ोतरी का ही असर है कि यहां आने वाले सैलानियों मे खुशी का माहौल देखा जा रहा था जानवरों की बढ़ती संख्या को देखते हुए वन विभाग काफी सजग है, ताकि मानव व वन्य जीव दोनों ही सुरक्षित रह सकें। भोजन के लिए सांभरों को भी बसाने जा रहा वन विभाग पार्क के अंदर अन्य वन्य प्राणियों को भी बसाना चाहता है।पर विडंबना ये की विभागीय लापरवाही में अधिकारियों के आपसी समन्वय नही होने के कारण बेतला नेशनल पार्क फिर से अनिश्चितकालीन बन्द हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here